सहायक अध्यापकों के पदोन्नति प्रक्रिया शुरू करने की मांग की

बहराइच: प्राथमिक शिक्षक संघ ने बुधवार को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी उदयराज को ज्ञापन सौंपा। परिषदीय विद्यालयों में अर्से से खाली चल रहे प्रधानाध्यापकों के पद पर सहायक अध्यापकों के पदोन्नति प्रक्रिया शुरू करने की मांग की। प्रदेश के आठ आकांक्षी जिलों में बहराइच शामिल है।

संघ के जिलाध्यक्ष आनंद कुमार पाठक ने कहा कि प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापकों की पदोन्नति वर्ष 2013 के बाद से नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व 1998 तक नियुक्त व पदोन्नति पाने वाले प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक व जूनियर के सहायक अध्यापक की जूनियर विद्यालय के प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति रुकी हुई है।

जिले में प्रधानाध्यापक के हजारों पद रिक्त हैं। विभाग को तत्काल पदोन्नति प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए। संगठन के प्रयास से चार माह पूर्व प्राथमिक और उच्च प्राथमिक के प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय ने पत्र जारी कर वरिष्ठता सूची खंड शिक्षा अधिकारियों से मांगा गया था, लेकिन अभी तक किसी भी ब्लॉक ने वरिष्ठता सूची नहीं सौंपी है।

जिलामंत्री विजय कुमार उपाध्याय ने बताया कि वर्ष 2015 से जिले में शिक्षको की नियुक्तियां हुई और बड़ी संख्या में शिक्षक सेवानिवृत्त भी हुए हैं। शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अनुसार प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक के 790, जूनियर के सहायक अध्यापक के 680 व जूनियर के प्रधानाध्यापक के लगभग 500 पद रिक्त हैं। 2000 से अधिक विद्यालय प्रधानाध्यापक विहीन हैं।