इधर मुख्यमंत्री का ‘प्रवास’, उधर युवाओं का ‘उपवास’

इलाहाबाद : आयोगों की बहाली और भर्तियां शुरू करने की मांग कर रहे प्रतियोगी शुक्रवार को मुख्यमंत्री के इलाहाबाद प्रवास के दरम्यान ‘उपवास’ रखेंगे। यह निर्णय गुरुवार को युवा मंच की बैठक में लिया गया। मुख्यमंत्री परेड पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने आ रहे हैं। प्रतियोगियों का आरोप है कि मुख्यमंत्री ने वादाखिलाफी की है। गौरतलब है कि आयोगों की बहाली की मांग पर कई छात्र संगठनों का धरना इन दिनों चल रहा है। 16 जनवरी को कलेक्ट्रेट पर छात्र संगठनों की भारी एकजुटता हुई थी। इसके बाद युवा मंच ने 18 जनवरी को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड कार्यालय पर रणनीति बनाई है। इसमें तय किया गया कि मुख्यमंत्री के प्रवास के दौरान प्रतिवाद स्वरूप युवा मंच उपवास पर रहेगा। बालसन चौराहे पर 11 बजे प्रतियोगी छात्र उपवास शुरू करेंगे। युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह ने यह जानकारी दी। बैठक में युवा मंच के प्रदेश संयोजक राजेश सचान, बीएड उत्थान जनमोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद मौर्या, विक्की खान, अनिल पाल आदि शामिल रहे।

वहीं, माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड कार्यालय पर दोपहर ढाई से चार बजे तक प्रतियोगी छात्रों के मोर्चा कोर कमेटी की बैठक होगी। अध्यक्ष अनिल कुमार पाल ने कहा है कि जोरशोर से क्रांतिकारी आंदोलन की आवश्यकता है, क्योंकि 15 जनवरी तक माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड के गठन के लिए अपर मुख्य सचिव संजय अग्रवाल की ओर से आश्वासन दिया गया था। इस वादे पर शासन और शिक्षा महकमा खरा नहीं उतरा तो प्रतियोगी छात्र क्या करें। उन्होंने कहा कि टीजीटी और पीजीटी प्रतियोगी छात्रों को आंदोलन तेज करना होगा।

सरकार को चैन से बैठने न देंगे: बालसन चौराहे पर रोजगार संघर्ष मोर्चा का क्रमिक अनशन गुरुवार को 14वें दिन भी जारी रहा। मोर्चा के प्रवक्ता प्रशांत सिंह तथा महासचिव अरविंद सरोज ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार रोजगार के नाम पर युवाओं को धोखा दे रही हैं। अविनाश विद्यार्थी और राहुल यादव ने कहा कि आयोगों की बहाली न हुई तो गूंगी-बहरी सरकार को चैन से बैठने नहीं देंगे।

न्यायिक सेवा प्रतियोगी छात्रों का अनशन जारी:  उप्र न्यायिक सेवा परीक्षा में हिंदी भाषा में प्रश्नपत्र और अवसर की बाध्यता खत्म करने की मांग को लेकर न्यायिक सेवा समानता संघर्ष मोर्चा का अनशन जारी है। हाईकोर्ट के समीप डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा के समक्ष अनशन पर बैठे प्रतियोगी छात्रों को कैट बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष और उप्र न्यायिक मोर्चा के अध्यक्ष जितेंद्र नायक, इविवि छात्रसंघ के उपाध्यक्ष तथा विधि छात्र चंद्रशेखर चौधरी का समर्थन मिला। बालसन चौराहे पर 11 बजे से शुरू होगा प्रतियोगी छात्रों का उपवास, आयोगों की बहाली न होने और भर्तियां ठप होने से प्रतियोगी खफा

पढ़ें- 68500 Shikshak Bharti Pariksha Vigyapti on 23

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *