डीएलएड प्रशिक्षण 2016 में साढ़े छह लाख से अधिक पंजीकरण हुए

डीएलएड यानी डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन प्रशिक्षण 2016 में साढ़े छह लाख से अधिक पंजीकरण हुए हैं। 14 जून से अब तक करीब तीन लाख 79 हजार 266 आवेदन हो चुके हैं, आवेदकों की संख्या में अभी और बढ़ोतरी होगी, क्योंकि सात जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन होंगे। प्रदेश के 63 डायट की 10500 व 1422 निजी कॉलेजों की 71100 (कुल 81600) सीटों पर दाखिला होना है।

अंतिम तारीख तीन जुलाई को शाम छह बजे तक इन सीटों के सापेक्ष छह लाख 67 हजार 282 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है, वहीं तीन लाख 79 हजार 266 अभ्यर्थियों ने फाइनल आवेदन यानी शुल्क के साथ कर दिया है। पिछली बार इतनी ही सीटों पर करीब साढ़े चार लाख से अधिक पंजीकरण हुए थे, इस बार ढाई लाख अधिक अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है।

परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव डॉ. सुत्ता सिंह ने बताया कि आवेदन शुल्क पांच जुलाई तक जमा किए जा सकेंगे। ऑनलाइन आवेदन सात जुलाई तक होंगे। ऐसे में आवेदकों की संख्या पिछले वर्षो का रिकॉर्ड तोड़ सकती है। इस बार ऑनलाइन काउंसिलिंग कराने की तैयारी है। वहीं, ऑनलाइन आवेदन में संशोधन 10 से 13 जुलाई की शाम छह बजे तक होंगे।

देशभर में स्वच्छ भारत अभियान की बयार चल पड़ी है। ऐसे में इस बार कक्षा आठ से दस तक के शिक्षार्थी स्वच्छ भारत की संभावनाएं व चुनौतियां खोजेंगे। राज्य विज्ञान संस्थान इलाहाबाद की ओर से राज्य विज्ञान संगोष्ठी का आयोजन इस वर्ष भी किया जा रहा है। यह कार्य छात्र-छात्रओं में अभिव्यक्ति की क्षमता बढ़ाने, उनमें वैज्ञानिक चिंतन व अनुसंधान की प्रवृत्ति जागृत करने के लिए किया जाता है।

इस बार की संगोष्ठी ‘स्वच्छ भारत : विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी-संभावनाएं एवं चुनौतियां’ विषय पर आधारित होगी। प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी को बिरला इंडस्टियल एंड टेक्नोलॉजिकल म्यूजियम, कोलकाता में नवंबर में होने वाली राष्ट्रीय विज्ञान संगोष्ठी में प्रतिभाग करने का मौका मिलेगा। राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान उप्र इलाहाबाद की निदेशक डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि यह संगोष्ठी राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र नई दिल्ली के निर्देशन में जिला, मंडल और राज्य स्तर पर अलग-अलग तारीखों में आयोजित की जाती है,

जिसमें प्रदेश के कक्षा आठ से दस तक के शिक्षार्थी पूर्व निर्धारित विषय पर अपना संभाषण प्रस्तुत करते हैं। निर्धारित चयन प्रक्रिया में जिला स्तर से प्रथम और द्वितीय स्थान प्राप्त बच्चे मंडल स्तर पर तथा मंडल स्तर पर प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त बच्चे राज्य स्तर पर प्रतिभाग करते हैं। इस वर्ष हर जिले में 25 जुलाई को जिला स्तरीय, 10 अगस्त को मंडल स्तरीय और राज्य विज्ञान संस्थान के सभागार में 26 अगस्त को राज्य स्तरीय विज्ञान संगोष्ठी का आयोजन प्रस्तावित है।

निदेशक ने बताया कि विभिन्न मंडलों से आए हुए प्रतिभागी निर्धारित विषय पर अपना संभाषण प्रस्तुत करेंगे। प्रतिभागियों का मूल्यांकन तीन निर्णायक सदस्यों की समिति करेगी। विजेता बच्चों को पुरस्कृत किया जाएगा। राज्य स्तरीय विज्ञान संगोष्ठी में प्रथम स्थान प्राप्त छात्र को नवंबर में होने वाली राष्ट्रीय विज्ञान संगोष्ठी में प्रतिभाग करने के लिए नामित किया जाएगा। विज्ञान संगोष्ठी का विवरण परीक्षा नियामक प्राधिकारी, उत्तर प्रदेश इलाहाबाद की वेबसाइट www.xamregulatoryauthorityup.inपर प्राप्त किया जा सकता है।

पढ़ें- डीएलएड 2016 में पंजीकरण के लिए मारामारीregistrations in DELED Training 2016

18 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *