69000 सहायक शिक्षक भर्ती का 13 दिसम्बर 2019 लीगल अपडेट

-साथियों अपने 69000 शिक्षकभर्ती मामले में न्यायालय की प्रक्रिया में हो रही देरी के सम्बंध में आज सचिवालय में उत्तर प्रदेश सरकार के कुछ माननीय मंत्रियों उपेंद्र तिवारी जी,सतीश महाना जी, आशुतोष टण्डन जी, से मुलाकात करके उनको पत्रक सौंपकर मामले में उचित संज्ञान लेने के लिए मुख्यमंत्री जी से अनुरोध करने का निवेदन किया ।पत्रक उनके विभागीय सचिव ने लेकर अग्रिम प्रेषित करने का भरोसा दिया है ।*

-बेसिक शिक्षामंत्री जी के कार्यालय में जाने पर ज्ञात हुआ कि महोदय क्षेत्र में दौरे पर हैं जिसके कारण उनसे मुलाकात न हो पाई उनके कार्यालय में भी पत्र सौंप दिया है जिसमें दो मांगें मुख्य रूप से की गई हैं :-*

*१ महाधिवक्ता या CSC पैनल के माध्यम से नियमित सुनवाई का लिखित प्रार्थनापत्र दिलाएँ और मामले के शीघ्र निस्तारण की प्रार्थना द्वय न्यायाधीशों की पीठ के सम्मुख स्टेट करे ।*
*२ हम 69000 शिक्षकभर्ती के अभ्यर्थियों के दो से तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात विभाग की ओर से प्रदेश के मुखिया माननीय मुख्यमंत्री जी से कराई जाए जिस से हम उनसे अपनी पीड़ा के साथ साथ कुछ महत्वपूर्ण बिंदु साझा कर सकें जिनके आधार पर अभी भी भर्ती प्रक्रिया गतिमान हो सके आगे बिना किसी अवरोध के ।।*

-इसके बाद महाधिवक्ता राघवेन्द्र सिंह जी को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा प्रदान किए गए विधानभवन के कार्यालय में जाने पर ज्ञात हुआ वो विशेष अवसरों पर ही स्वयं वहां आते हैं अन्यथा उनके कार्यालय के प्रपत्र प्रतिदिन उन तक पहुँचा दिए जाते हैं वहां भी पत्र सौंपने पर उनके अधीन कार्यरत कर्मचारी ने एक कटाक्ष किया कि अगर महाधिवक्ता के भरोसे ही केस लड़ना था तो आप सबने अपना सीनियर अधिवक्ता क्यों कर रखा है ??*
*हमने कहा सर अपनी बातों को बेहतर रखने के लिए ।*
*उस पर उनका सुझाव था कि 4 टॉप सीनियर सँयुक्त रूप से एक साथ कोर्ट से प्रे करें और कोर्ट उन्हें ठुकरा दे इसकी संभावना बिल्कुल न के बराबर है महाधिवक्ता भी न्यायालय के सीनियर अधिवक्ताओं के बीच से ही चयनित होता है और आपके पैनल में तो एक पूर्व महाधिवक्ता जी भी शामिल हैं तो आप लोग सँयुक्त प्रयास करें । हमने उनसे ये भी कहा कि हमारे अधिवक्ताओं का कहना है कि केवल स्टेट ही प्रे कर सकती है जिस पर उनका व्यंग था तो आपके अधिवक्ताओं ने केस स्टेट से पहले क्यों दाखिल कर दिया था ।उक्त बातों पर उलझने के बजाय हमने याचना ही की महोदय हो सके तो पत्र दे दीजियेगा और मिलने की सम्भावनाएँ बने तो सूचित कीजियेगा जिसपर उन्होंने आश्वासन दिया है कि वह पत्रक को महाधिवक्ता जी तक पहुचायेंगे ।।*

-सचिवालय में कार्यरत एक 69000 शिक्षकभर्ती के अभ्यर्थी को शेष कुछ पत्रक सौंप दिए हैं जिसकी जिम्मेदारी लेते हुए साथी ने उम्मीद जताई है मौका मिलने पर वह उनको विधिमंत्री, दोनों उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा जी और केशव मौर्य जी से साझा कर लेगा और पत्रांक संख्या मिलने पर भेजेगा ।*

-दोस्तों अब बात करते हैं मामले की सुनवाई के आसार के अगर सँयुक्त प्रे कोर्ट के सम्मुख नहीं हो पाती है किन्हीं कारणों के कारण तो ऐसी स्थिति में मामला जनवरी में जाएगा । जनवरी में कोर्ट 2 जनवरी से खुलेगी जिसके उपरांत केस लिस्ट होगा और जो तिथि होगी आप सबसे साझा कर ली जाएगी ।*

-धरने के सम्बंध में जब टीम अपनी रणनीति साझा करेगी तो हमारे हिस्से में जो अंशदान आएगा वह पूर्ण मनोयोग के साथ पूर्ण करेंगे उसके अतिरिक्त सँयुक्त परिवार का सदस्य होने के नाते पारिवारिक जिम्मेदारियों और पढ़ाई का नैतिक दायित्व भी होने के बावजूद भी केस में जो सम्भव हो सकता है करते हैं पर आप में से कोई अगर यह अपेक्षा रखता है कि हम सर्वस्व हवन कर दें तो न मैं ऐसी सलाह आपको देता हूँ न खुद इसका पालन करूँगा अपनी क्षमताओं का बेहतर इस्तेमाल कीजिये ।पढ़िए या निजी जॉब पकड़िए भर्ती को भूलिए मत पर भर्ती को पकड़कर झूलिये भी मत ।*

-मंत्री विधायक मुख्यमंत्री या किसी भी जिम्मेदार व्यक्तियों के फेसबुक पोस्ट के कमेंट में 69000 सम्बन्धी बात को वाजिब तरीके से रखिये इसके लिए एक सन्देश बनाकर सुरक्षित रख लीजिए हर जगह पेस्ट कर दीजिए वही जब जब खोलिए 10 20 जगह रख आइए । आवश्यक ई मेल खोजकर जो एक्टिव साथी हैं मेल एड्रेस पर समस्या को मेल करें जो किसी माध्यम से मुख्यमंत्री जी से मुलाकात सम्भव करवाने का माद्दा रखते हो वह उक्त कार्य को करें मुलाकात की तिथि निर्धारित होने के बाद सूचित करें जिस भी व्यक्ति को आप चाहते हो मिले उनसे । पर पहले फोन करके वादा करना फिर कार्य पूर्ण न कर पाना यह साल भर से चल रहा है तो पहले मुख्यमंत्री जी के साथ वार्ता का प्रयास फिक्स करने का प्रयास सभी कीजिये ।*

-शेष केस में जो होगा आप सबके साथ साझा किया जाएगा मेरे नाम के साथ या मेरे नाम के खिलाफ कोई भी दावा या जानकारी तब तक सत्य न मानिएगा जब तक उसकी पुष्टि मैं स्वयं न कर दूं फिर वह धरने सम्बंधित हो या मीटिंग या किसी भी चीज के संदर्भ में । मेरे द्वारा आप सबको जानकारी इसी पेज से दी जाती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.