स्कूल-कॉलेजों पर फिर से कोरोना की मार

  

schoolस्कूल-कॉलेजों पर फिर से कोरोना की मार, उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों ने किया शिक्षण संस्थानों को बंद करने का एलान
देश भर में कोरोना महामारी का प्रकोप एक बार फिर से बढ़ने लगा है। कई राज्यों में कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है। बीते दिन देश के विभिन्न राज्यों से संक्रमण के कुल 27,553 केस सामने आए हैं। वहीं, देश में अब तक कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के भी 1500 से अधिक मामले आ चुके हैं। अब तक 23 राज्यों में इस वैरिएंट की पुष्टि हो चुकी है।

इन मामलों ने देश में एक बार फिर से लॉकडाउन की चर्चाओं को हवा दे दी है। कई राज्यों ने रात्रि कर्फ्यू की भी घोषणा कर दी है। कई स्कूलों में भी कोरोना विस्फोट के मामले सामने आए हैं। इस कारण से कई राज्यों में स्कूलों का बंद होना भी शुरू हो गया है

पश्चिम बंगाल में स्कूल-कॉलेजों को बंद करने की घोषणापश्चिम बंगाल सरकार ने कोरोना के खतरे को देखते हुए राज्य के सभी स्कूल-कॉलेजों और अन्य शिक्षण संस्थानों को कल 3 जनवरी 2022 से बंद करने का फैसला किया है। राज्य के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने आज रविवार को इस बात की जानकारी दी है। दरअसल, बुधवार को राज्य सीएम ममता बनर्जी ने अधिकारियों से राज्य में कोरोना के वैरिएंट ओमिक्रॉन को संभालने के उपायों की समीक्षा करने और कुछ समय के लिए शिक्षण संस्थानों को बंद करने की सलाह दी थी। आधिकारिक नोटिस में कहा गया है कि राज्य में कल से सभी स्कूल कॉलेजों में अकादमिक गतिविधियां बंद रहेंगी। 50 प्रतिशत क्षमता के साथ केवल प्रशासनिक गतिविधियां जारी रहेंगी।

हरियाणा में सभी स्कूल और कॉलेज 12 जनवरी तक बंदकोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए हरियाणा सरकार ने राज्य में सभी स्कूल और कॉलेजों को 12 जनवरी 2022 तक बंद करने का फैसला किया है। राज्य में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। आगे भी संस्थानों का शुरू होना कोरोना के हालात पर ही निर्भर होगा। सरकार द्वारा जारी किए गए आधिकारिक आदेश में कहा गया है कि राज्य में सभी स्कूल, कॉलेज, पॉलिटेक्निक, आईटी, कोचिंग संस्थान, पुस्तकालय और प्रशिक्षण संस्थान (चाहे सरकारी हो या निजी), आंगनवाड़ी केंद्र आदि बंद रहेंगे।

तमिलनाडु में कक्षा 1 से 8 तक की ऑफलाइन कक्षाएं बंदकोरोना के मामलों में तेजी को देखते हुए तमिलनाडु सरकार ने 10 जनवरी 2022 तक पहली से 8वीं तक की कक्षाओं को ऑफलाइन न आयोजित करने का फैसला किया है। सरकार ने 31 दिसंबर 2021 को ही इस बात की घोषणा कर दी थी। सरकार ने आधिकारिक नोटिफिकेशन में बताया है कि कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक की ऑफलाइन कक्षाएं 10 जनवरी 2022 तक बंद रहेंगी। कक्षा 9वीं से लेकर 12वीं तक की कक्षाएं सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए चलेंगी। वहीं, यूकेजी और एलकेजी की कक्षाएं नहीं लगेंगीं।

ओडिशा में नहीं खुलेंगे पहली से 5वीं कक्षा तक के स्कूलओडिशा में भी कोरोना संक्रमण के मामलों मे आई तेजी को देखते हुए राज्य सरकार ने पहली से पांचवीं तक की कक्षाओं के लिए स्कूलों को न शुरू करने का निर्णय लिया है। इससे पहले यह कक्षाएं सोमवार 3 जनवरी 2022 से शुरू होनी थी। राज्य के स्कूल और जन शिक्षा मंत्री एस आर दाश ने बताया कि राज्य में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी और परिजनों की प्रतिक्रिया को ध्यान में रखते हुए सरकार ने 3 जनवरी से पहली से पांचवीं तक की कक्षाओं को न शुरू करने का निर्णय लिया है।

महाराष्ट्र में फिर से बंद हो सकते हैं स्कूल

महाराष्ट्र सरकार जल्द ही राज्य में स्कूल, कॉलेज समेत सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का फैसला ले सकती है। दरअसल, देश में कोरोना और इसके ओमिक्रॉन वैरिएंट के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में ही देखने को मिले हैं। राज्य सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने अगले 15 दिनों में शिक्षण संस्थानों को बंद करने पर फैसला लेने की बात कही है। वहीं, राज्य की शिक्षा वर्षा गायकवाड़ ने भी बताया था कि अगर राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले इसी तरह बढ़ते रहें , तो सरकार स्कूलों को बंद करने पर विचार कर सकती है। राज्य के कई शिक्षण संस्थानों में भी कोराना विस्फोट के बड़े मामले सामने आ चुके हैं।गुजरात में ऑनलाइन कक्षाओं के लिए आवेदनकोरोना के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए गुजरात में स्कूल एसोसिएशन ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री भुपेंद्र पटेल को पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने ऑफलाइन कक्षाओं को चरणबद्ध तरीके से बंद करने की मांग की है। कोरोना के कारण कई स्कूली छात्र भी संक्रमित हुए हैं।

दिल्ली में यलो अलर्ट के कारण बंद हैं स्कूल

देश की राजधानी दिल्ली में भी कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ते चले जा रहे हैं। इस समय दिल्ली में यलो अलर्ट के कारण सभी स्कूलो को अगले आदेश तक बंद रखा गया है। कोरोना के मामलों को देखते हुए ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि स्कूल और अधिक समय तक बंद रखे जा सकते हैं।

उत्तर प्रदेश में 12वीं तक के स्कूलों की छुट्टी
उत्तर प्रदेश में भी 12वीं तक की कक्षाओं को 31 दिसंबर 2021 से 14 जनवरी 2022 तक शीतकालीन छुट्टियों के कारण बंद रखने का फैसला किया है। इससे पहले सरकार ने 8वीं तक की कक्षाओं को बंद करने की घोषणा की थी। उत्तर प्रदेश में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

कई अन्य राज्यों में हालात बुरे

उत्तराखंड के नैनीताल में जवाहर नवोदय विद्यालय गंगरकोट में कोरोना विस्फोट का बड़ा मामले देखने को मिला है। यहां एक साथ 85 छात्रों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। प्रशासन ने सभी छात्रों को स्कूल में आइसोलेट कर दिया है। राज्य में अन्य जगहों से भी संक्रमण के बढ़ने की खबरें सामने आ रही है। वहीं, जम्मू-कश्मीर के श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय में 13 छात्रों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *