प्रधानाचार्य भर्ती के बहाने आयोग को घेरेंगे प्रतियोगी

protestपीसीएस-2018 के तहत हुई प्रधानाचार्य राजकीय इंटर कालेज भर्ती में गड़बड़ी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा संशोधित किए गए परिणाम से असंतुष्ट अभ्यर्थियों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर दी है। प्रतियोगी आयोग की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिह्न लगाते हुए कोर्ट के आदेश की अवहेलना करने का आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि आयोग ने 33 के बजाय सिर्फ 14 चयनितों को बाहर किया। जिन्हें उनकी जगह चयनित किया गया है, उसमें कई के अंकपत्र व प्रमाणपत्रों में गड़बड़ी है । इस मुद्दे पर प्रतियोगी आयोग पर बड़ा प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं। लोकसेवा आयोग ने पीसीएस 2018 के तहत विभिन्न विभागों में 988 पदों की भर्ती निकाली थी

यह भी पढ़ेंः  छात्रवृत्ति का फर्जीवाड़ा रोकने के लिए आधार का त्रिस्तरीय सुरक्षा कवच कवच तैयार