एडेड डिग्री कालेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 1,898 पदों की भर्ती के लिए असमंजस की स्थिति

प्रयागराज : अलग-अलग विभागों में खाली पदों को भरने के लिए पिछले कुछ महीनों से कवायद चल रही है। शिक्षा व चिकित्सा विभाग के खाली पद प्राथमिकता के आधार पर भरे जा रहे हैं। इसके मद्देनजर प्राथमिक, माध्यमिक विद्यालयों, राजकीय डिग्री कालेजों में शिक्षकों की काफी भर्तियां की गई हैं, लेकिन अशासकीय सहायता प्राप्त (एडेड) डिग्री कालेजों की स्थिति भिन्न है। शासन से अधियाचन मिलने के बावजूद एडेड डिग्री कालेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 1,898 पदों की भर्ती के लिए असमंजस की स्थिति है। प्रतियोगी भर्ती निकलवाने के लिए उच्च शिक्षा निदेशालय का चक्कर काट रहे हैं, परंतु कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

प्रदेशभर के एडेड डिग्री कालेजों में मौजूदा समय असिस्टेंट प्रोफेसर के लगभग 4,600 पद खाली हैं। शासन ने सितंबर, 2020 में उच्च शिक्षा निदेशालय को 3,900 पदों की भर्ती के लिए अधियाचन भेजा था। इसके तहत निदेशालय ने उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग को 2,002 पद की भर्ती का अधियाचन भेजा। फिर आयोग ने विज्ञापन संख्या-50 के तहत 49 विषयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 2,003 पद की भर्ती निकाली है। इसमें एक पद व एक विषय विज्ञापन संख्या-47 का है। उसे भी इसमें शामिल किया गया है। भर्ती की लिखित परीक्षा 30 अक्टूबर, छह नवंबर, 14 नवंबर, 28 नवंबर व 12 दिसंबर को आयोजित कराई जाएगी, लेकिन 3,900 में बचे 1,898 पदों की भर्ती को लेकर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। नियमानुसार इन पदों की भर्ती भी निकलनी थी। इसी कारण प्रतियोगी अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं। वहीं, उच्च शिक्षा निदेशक डा. अमित भारद्वाज का कहना है कि नई भर्ती निकालने के लिए शासन से कोई निर्देश नहीं मिला है। निर्देश मिलते ही प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

यह भी पढ़ेंः  पीसीएस के अभ्यर्थी भी आयुसीमा में छूट देने की मांग