प्रतियोगी छात्रों ने मंगलवार को बालसन चौराहे पर किया धरना प्रदर्शन

  

protestप्रयागराज: युवा मंच के बैनर तले प्रतियोगी छात्रों ने विभिन्न आयोगों में फंसी भर्ती की प्रक्रिया पूरी करने की मांग को लेकर मंगलवार को बालसन चौराहे पर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान जोरदार नारेबाजी भी की गई। प्रतियोगी छात्र हाथ में तख्तियां लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। प्रतियोगियों ने 27 हजार शिक्षक भर्ती टीजीटी-पीजीटी का परिणाम शीघ्र जारी करने, यूपीपीएससी में फंसी भर्तियों को शीघ्र पूरा करने आदि की मांग की।

बता दें कि एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में कला विषय के चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति फंसी हुई है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) दो माह पहले ही चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति की संस्तुति माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेज चुका है। एलटी ग्रेड शिक्षकों के 10768 पदों पर भर्ती के लिए 29 जुलाई 2018 को परीक्षा आयोजित की गई थी। इसमें कला विषय के 470 पद शामिल थे।

कला विषय के अभ्यर्थियों के लिए बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (बीएफए) के साथ बीएड की डिग्री की अर्हता निर्धारित की गई थी, लेकिन परीक्षा में बहुत से ऐसे अभ्यर्थी शामिल हो गए थे, जिन्होंने केवल बीएफए किया था। उनके पास बीएड की डिग्री की नहीं थी। परीक्षा में ऐसे 90 अभ्यर्थियों का चयन हो गया। आयोग ने इन अभ्यर्थियों का अभिलेख सत्यापन तो कराया, लेकिन माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को फाइलें नहीं भेजीं।
इसी तरह सहायक सांख्यिकी अधिकारी (एएसओ) के एक हजार से अधिक पदों पर भर्ती फंसी हुई है। एससओ के पदों पर भर्ती की जिम्मेदारी पहले उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) के पास थी, लेकिन अब इन पदों पर भर्ती का जिम्मा उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) को सौंप दिया गया है। अभ्यर्थियों का कहना है कि यूपीएसएसएससी विज्ञापन जारी करने और परीक्षा कराने में विलंब कर रहा है। परीक्षा के इंतजार में ओवरएज हो रहे अभ्यर्थियों के लिए चयन के अवसर घट रहे हैं। अभ्यर्थियों ने यूपीपीएससी में ज्ञापन देकर मांग की है कि यूपीपीएससी पूर्व की भांति एएसओ के पदों पर भर्ती कराए।

सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के खाली चल रहे 27 हजार पदों पर भर्ती की मांग को लेकर भी प्रतियोगी लंबे समय से आंदोलनरत हैं। इसको लेकर अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड कार्यालय पर प्रदर्शन भी कर चुके हैं। उनकी मांग है कि नए विज्ञापन को लेकर शीघ्र अधियाचन मांगा जाए, जीव विज्ञान-2016 लिखित परीक्षा का परिणाम शीघ्र घोषित किया जाए और साक्षात्कार में चार गुना अभ्यर्थियों को बुलाया जाए।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *