त्योहार के बीच जल्द ही आएगी प्रतियोगी परीक्षाओं की बहार

Jobsप्रयागराज : कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति के कारण अप्रैल से जून तक प्रतियोगी परीक्षाएं रुकी रहीं। इस अवधि में किसी भर्ती संस्थान ने परीक्षाएं नहीं कराईं। इससे सभी का परीक्षा कैलेंडर गड़बड़ा गया। इधर, कोरोना का प्रकोप नियंत्रित होने पर परीक्षाएं शुरू कर दी गई हैं। सितंबर-अक्टूबर महीने में गणोश उत्सव, नवरात्रि, दशहरा व दीपावली के बीच उप्र लोकसेवा आयोग, कर्मचारी चयन आयोग व उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की महत्वपूर्ण परीक्षाएं प्रस्तावित हैं। त्योहार के बीच परीक्षाएं होने पर अभ्यर्थियों की दिक्कत बढ़ेगी।

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवल परीक्षा-2019 के अभ्यर्थियों का स्किल टेस्ट 15 व 16 सितंबर को आयोजित करेगा। इसके बाद 26 सितंबर को जूनियर इंजीनियर परीक्षा-2020 पेपर-2 की परीक्षा होगी। वहीं, मल्टी टास्किंग (नान टेक्निकल) स्टाफ परीक्षा-2020 का पेपर-1 पांच से 10 अक्टूबर तक होगा, जबकि स्टेनोग्राफर ग्रेड सी और डी परीक्षा-2019 के अभ्यर्थियों का स्किल टेस्ट 21 व 22 अक्टूबर को लिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः  मृतक आश्रितों के लिए मांगी नौकरी, डीएम को सौंपा ज्ञापन

इसी प्रकार उप्र लोकसेवा आयोग की परीक्षाएं भी प्रस्तावित हैं। आयोग 19 सितंबर को प्रवक्ता (पुरुष/महिला) राजकीय इंटर (प्रारंभिक) परीक्षा-2020 कराएगा। इसके बाद तीन अक्टूबर को स्टाफ नर्स (पुरुष/महिला) परीक्षा-2021 तथा 24 अक्टूबर को सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा-2021 और सहायक वन संरक्षक/क्षेत्रीय वन अधिकारी (प्रारंभिक) परीक्षा-2021 आयोजित की जाएगी।

उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की भी परीक्षाएं अक्टूबर में प्रस्तावित हैं। अशासकीय सहायता प्राप्त (एडेड) डिग्री कालेजों के लिए विज्ञापन संख्या-50 के तहत निकली असिस्टेंट प्रोफेसर की 2003 पदों की भर्ती के लिए उच्चतर आयोग 30 अक्टूबर, छह नवंबर, 14 नवंबर, 28 नवंबर व 12 दिसंबर को लिखित परीक्षा आयोजित करेगा। हर भर्ती संस्थान का जोर परीक्षा कराने के चंद दिनों बाद परिणाम जारी करने पर है। इसके मद्देनजर सारे काम तेजी से किए जाएंगे।

यह भी पढ़ेंः  राजकीय विद्यालयों में तैनात एलटी ग्रेड सहायक अध्यापकों के लिए अच्छी खबर

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.