आयोग में भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रतियोगी छात्रों ने कैंडल मार्च निकला

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर लीक मामला बहुत जोर पकड़ रहा है। जिसको लेकर प्रतियोगी छात्र काफी गुस्से में है। लेकिन उनका नाराज होना भी जायज़ है क्योकि ये उनके भविष्य से जुड़ा है। सैकड़ों प्रतियोगी छात्रों ने रविवार को सड़क पर उतर कर इस प्रकरण का विरोध किया। युवा मंच, बीएड उत्थान जनमोर्चा, युवा अधिकार मंच, प्रतियोगी मोर्चा, आइसा जैसे संगठनों से जुड़े छात्रों ने कैंडल मार्च निकालकर आयोग की कार्यप्रणाली का कड़ा विरोध किया। आयोग के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई न होने पर छात्रों ने राज्य सरकार को निशाने पर लिया। छात्रों ने यह भी आरोप लगाया की सरकार भ्रष्ट अधिकारियों को शह दे रही है और उन्होंने तुरंत कार्रवाई की मांग की। ऐसा न होने पर छात्रों ने प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी।

कैंडल मार्च रविवार शाम इविवि वाणिज्य संकाय बैंक रोड से शुरू हुआ और बालसन चौराहा स्थित गांधी प्रतिमा तक सभा में यह तब्दील हो। युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि आयोग के भ्रष्टाचार पर योगी सरकार पर पर्दा डाल रही है। यही कारण है कि अभी तक सचिव के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। भ्रष्टाचार की जांच करे बिना कार्यवाहक परीक्षा नियंत्रण की नियुक्ति और चयन प्रक्रिया शुरू करना अनुचित है। कहा कि आयोग के भ्रष्टाचार पर 11 जून को प्रदेशव्यापी आंदोलन की रणनीति तैयार की जाएगी।

प्रतियोगी छात्रों की मांगें

  • आयोग के अध्यक्ष और सचिव एवं पेपर लीक प्रकरण में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए।
  • एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा निरस्त कर छह माह में भर्ती पूरी कराई जाए।
  • पिछले दो साल में हुई भर्ती परीक्षाओं की सेवानिवृत जज के पैनल की निगरानी में जांच कराई जाए।
  • आंदोलनरत छात्रों के खिलाफ दर्ज मुकदमें तत्काल वापस लिए जाएं।
  • भर्ती आयोग/बोर्ड में भ्रष्टाचार एवं अनियमितता रोकने के लिए राज्यस्तरीय आयोग का गठन हो, सभी आयोग/बोर्ड की जवाबदेही तय की जाए।LT grade teacher recruitment
0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *