इंटर में एक विषय में ही दे सकेंगे कंपार्टमेंट परीक्षा

प्रयागराज : यूपी बोर्ड की परीक्षा में सख्ती और बेहतर रिजल्ट देने का खाका साथ-साथ खींचा जा रहा है। यही वजह है कि इंटरमीडिएट में कंपार्टमेंट परीक्षा लागू करने की तैयारी तेज है। 2020 की परीक्षा से ही यह नियम लागू हो सकता है। उप मुख्यमंत्री पिछले दिनों इस संबंध में संकेत दे चुके हैं, क्योंकि बोर्ड प्रशासन 2019 की परीक्षा से ही इसे लागू करने का पक्षधर रहा ह

यूपी बोर्ड में कंपार्टमेंट परीक्षा नई बात नहीं है, बल्कि हाईस्कूल में लंबे समय से चल रही है। हाईस्कूल के वे परीक्षार्थी जो दो विषयों में फेल हो जाते हैं, उन्हें किसी एक विषय में कंपार्टमेंट परीक्षा देने का अवसर दिया जाता है, जो अभ्यर्थी यह परीक्षा उत्तीर्ण कर लेते हैं, उन्हें हाईस्कूल में सफल होने का अंकपत्र मिल जाता है, भले ही वह छठे विषय में फेल रहते हों। अभी तक इंटर में कंपार्टमेंट परीक्षा का प्रावधान नहीं रहा है लेकिन, पिछले वर्ष सीबीएसई की तर्ज पर जब इंटर के तमाम विषयों में दो की जगह एक पेपर की परीक्षा हुई तभी से कंपार्टमेंट की सुविधा लाखों परीक्षार्थियों को देने की सुगबुगाहट तेज हुई।

ये भी पढ़ें : 12वीं में फेल होने पर दे सकेंगे कंपार्टमेंट परीक्षा – उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा

असल में, पहले इंटर में दो प्रश्नपत्रों में एक पेपर खराब होने पर दूसरे में संभलने का अवसर मिल जाता था लेकिन, सिर्फ एक पेपर होने से यह अवसर भी जाता रहा। इसका असर रिजल्ट पर दिखा, उन्हें परीक्षा उत्तीर्ण करने का मौका देने के लिए यह चर्चा तेज हुई कि इंटर के पांच विषयों में यदि एक विषय में अभ्यर्थी फेल हो तो उसे यह अवसर दिया जाए। बोर्ड ने इससे शासन को भी अवगत कराया, अब इस पर सभी गंभीर हैं, माना जा रहा है कि आसन्न परीक्षा से ही यह प्रावधान लागू हो सकता है।

यही नहीं, इधर के वर्षो में इंटर के रिजल्ट में लगातार गिरावट हो रही है। इसकी वजह नए-नए नियम और परीक्षा में विशेष सख्ती है। परीक्षार्थियों का मनोबल ऊंचा करने के लिए यह कदम उठाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.