418 प्रशिक्षित स्नातक शिक्षकों को कॉलेज हुआ आंवटित

प्रयागराज : प्रदेश भर के अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक कालेजों के लिए हिंदी विषय के 418 प्रशिक्षित स्नातक शिक्षकों का और चयन हुआ है। यह चयन वर्ष 2013 के सापेक्ष किया गया है, क्योंकि चयन बोर्ड ने हिंदी विषय में जितने पदों का विज्ञापन जारी किया, उससे कम पदों के लिए शिक्षकों का चयन हुआ। इसे हाईकोर्ट में चुनौती दी गई, कोर्ट ने कहा कि चयन बोर्ड को पद घटाने का अधिकार नहीं है। इसीलिए अवशेष व रिक्तियों से अधिक पदों के लिए चयन करके उन्हें कालेज भी आवंटित किए गए हैं।

चयन बोर्ड ने वर्ष 2013 में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक हंिदूी विषय का विज्ञापन निकाला था और चयन सूची में अभ्यर्थियों के पद घटा दिए गए थे। संजय कुमार सिंह बनाम उप्र राज्य व अन्य मामले में हाईकोर्ट ने 28 नवंबर 2018 को आदेश दिया। इसमें कहा गया कि चयन बोर्ड को पद घटाने का अधिकार नहीं है। ऐसे में चयन बोर्ड ने नियमावली 1998 के नियम 12 (8) में दी गई व्यवस्था के अनुसार इस विषय के अवशेष अभ्यर्थियों का पैनल जारी कर दिया है। इसमें बालक वर्ग में सामान्य के 63, पिछड़ा वर्ग के 47 और अनुसूचित जाति के 63 अभ्यर्थियों को कालेज आवंटित हुए हैं। ऐसे ही बालिका वर्ग में सामान्य के आठ, ओबीसी के तीन और अनुसूचित जाति की पांच का चयन हुआ है। चयन बोर्ड ने इसी भर्ती में रिक्तियों की संख्या से अधिक करीब 25 प्रतिशत और बालक-बालिकाओं का भी पैनल घोषित किया है।

बालक वर्ग में सामान्य के 99, ओबीसी के 53 और अनुसूचित जाति के 57 अभ्यर्थी हैं। ऐसे ही बालिका वर्ग में सामान्य की नौ, ओबीसी की चार व अनुसूचित जाति की पांच बालिकाएं हैं। इस तरह से अवशेष के 191 व रिक्तियों से अधिक में 227 का चयन हुआ है। इन सभी को कालेज आवंटन हो गया है। अब इन चयनितों को संबंधित कालेजों में नियुक्ति मिल सकेगी या नहीं, यह स्पष्ट नहीं है।

पढ़ें- No Compromise with merit in UP 69000 Assistant Teacher Recruitment

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *