बच्चों के नामांकन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे के सभी ग्राम प्रधानों को चिट्ठी लिखी

  

यूपी प्राइमरी स्कूल की व्यवस्था सुधारने की कमान सूबे के मुखिया ने खुद संभाल रखी है। स्कूल चलो अभियान के तहत बच्चों के नामांकन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे के सभी ग्राम प्रधानों को चिट्ठी लिखी है। प्रतापगढ़ स्थित बेल्हा के एक हजार से अधिक प्रधानों के पास अब तक यह चिट्ठी पहुंच चुकी है। इसमें ग्राम प्रधानों को छह से 14 वर्ष के बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने का आह्वान किया गया है।

चिट्ठी में मुख्यमंत्री ने कहा है कि छह से 14 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा मौलिक अधिकार है। हम सबका उत्तरदायित्व है कि ऐसे प्रत्येक बच्चे को विद्यालय में प्रवेश दिलाकर उसे प्रारंभिक शिक्षा सुलभ कराई जाए। शिक्षा से बच्चों के बौद्धिक विकास के साथ ही उसे देश के श्रेष्ठ नागरिक बनने का मार्ग प्रशस्त होता है और रूढ़िवादिता व अंधविश्वास से मुक्त बेहतर समाज का निर्माण होता है।

सरकार की मंशा है कि बच्चों की बुनियादी शिक्षा व्यवस्था दुरुस्त हो। बच्चों को समय से निश्शुल्क पाठ्य पुस्तकें, यूनीफार्म, जूते व नियमित गुणवत्तायुक्त भोजन मिले।1सीएम ने कहा है कि प्रदेश में अभी भी काफी बच्चे विद्यालय में नामांकित नहीं हो पाते। इस कारण उन्हें निशुल्क शिक्षा व्यवस्था का लाभ नहीं मिल पा रहा है। मुख्यमंत्री ने नवीन शैक्षिक सत्र में शत-प्रतिशत बच्चों का विद्यालयों में नामांकन कराने की मंशा जाहिर की है। इस कार्य में उन्होंने प्रधानों का सहयोग मांगा है।

जिले में एक जुलाई से 31 जुलाई तक स्कूल चलो अभियान चलाया जाएगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने ग्राम प्रधानों को जो चिट्ठी भेजी थी, उसे उनके पास पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। एक हजार प्रधानों तक चिट्ठी पहुंच चुकी है। बाकी बचे 255 प्रधानों तक जल्द ही चिट्ठी पहुंचा दी जाएगी। 1-बीएन सिंह, बीएसए प्रतापगढ़।