68500 सहायक अध्यापक पदों पर भर्ती के आवेदन में बदलीं प्रविष्टियां

इलाहाबाद : सहायक अध्यापक के 68,500 पदों पर भर्ती परीक्षा में ऑनलाइन आवेदन करने के बाद कुछ अभ्यर्थियों की ओर से भरी गई प्रविष्टियों में तकनीकी रूप से बदलाव हो गया है। इससे अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं हो पा रहे हैं, जबकि परीक्षा 12 मार्च को होनी है। परीक्षा के लिए आवेदन करने वाली एक अभ्यर्थी विधि अग्रवाल ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी इलाहाबाद को शिकायती पत्र दिया है, जिसमें अवगत कराया गया है कि उसके पंजीकरण संख्या की प्रविष्टियों में किसी ने छेड़छाड़ कर दी है। बताया कि उसने अपना आवेदन खुद ही लैपटॉप से भरा था। जिसकी पंजीकरण संख्या 2200001605 है। उसका प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं हो रहा। विभाग से पता करने पर बताया गया कि इस रजिस्ट्रेशन संख्या पर ऑनलाइन फार्म में जन्म की तारीख, पिता का नाम, माता का नाम, मोबाइल नंबर, फोटो, प्राप्तांक आदि किसी दूसरे का दर्ज है। विधि अग्रवाल का कहना है कि कई और अभ्यर्थियों ने ऐसी शिकायत की है। जिससे 12 मार्च को होने वाली परीक्षा में शामिल होने से वंचित होना पड़ सकता है। कई और परीक्षार्थियों ने इसी तरह की शिकायतें की है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय की सचिव डा. सुत्ता सिंह ने कहा कि आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की स्वयं की गलती से ऐसा हो सकता है। इसे कोई और बदल नहीं सकता है।

शिक्षक भर्ती परीक्षा पर भी एसटीएफ की नजर: परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों के सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में नकल पर प्रभावी अंकुश लगाने के निर्देश दिए गए हैं। परीक्षा के पहले ही एसटीएफ को भी सक्रिय किया गया है और वह मंडल मुख्यालयों की निगरानी कर रही है। पहली बार हो रही शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं। अपर मुख्य सचिव राज प्रताप सिंह सोमवार को सभी मंडलायुक्तों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये रूबरू हुए। उन्होंने सबसे पहले मंडलायुक्तों की उपस्थिति जांची और जो कमिश्नर नहीं पहुंचे थे, उन्हें हिदायत दी कि वह इस परीक्षा की विशेष रूप से निगरानी करें।

उन्होंने जिलाधिकारी और कमिश्नर से प्रश्नपत्रों की सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया, ताकि परीक्षा की शुचिता बनी रहे। इसके साथ ही शिक्षक भर्ती के लिए केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट व केंद्र व्यवस्थापक तैनात करने की जानकारी ली। उन्हें बताया गया कि सभी मंडलों में परीक्षा के लिए पर्यवेक्षक लगाए गए हैं। ज्ञात हो कि शिक्षक भर्ती परीक्षा मंडल मुख्यालयों पर होनी है। शिक्षक भर्ती परीक्षा के दौरान शिक्षा माफिया पर नकेल कसने और परीक्षा में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए प्रशासन की तरफ से एसटीएफ की मदद भी ली जाएगी। इस बारे में सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी डॉ. सुत्ता सिंह ने बताया कि शासन की तरफ से परीक्षा की शुचिता बनाने और सुरक्षा को ध्यान में देखते हुए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया है।

पढ़ें- Pradhan Sahayak Suspend taking bribe in UP Inter District Teacher Transfer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *