कस्तूरबा विद्यालय की वार्डन व शिक्षिका के खिलाफ मुकदमा

  

मडराक के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में छात्रओं से मारपीट व शौचालय साफ कराने के प्रकरण में वार्डन उपासना व शिक्षिका गुंजन के खिलाफ सोमवार को मुकदमा दर्ज कराया गया। प्रकरण की विस्तृत जांच के लिए कमेटी गठित की गई है। बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय ने बताया कि वार्डन व तीन शिक्षिकाओं की सेवा समाप्त कर एक वार्डन, एक पूर्णकालिक शिक्षिका व जूनियर हाईस्कूल की दो शिक्षिकाओं को तैनात किया गया है। एबीएसए आलोक को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है, जो हर रोज विद्यालय की गतिविधियों पर निगरानी रखेंगे व रिपोर्ट कार्यालय में सौपेंगे।

उन्होंने बताया कि वायरल वीडियो को देखकर पता चलता है कि वो मई में बनाया गया है। उसको इतने माह बाद क्यों जारी किया गया? जैसे बिंदुओं पर जांच की जा रही है। सभी कस्तूरबा विद्यालयों में सघन निरीक्षण के निर्देश दिए गई हैं, जिससे ऐसी किसी घटना की पुनरावृत्ति न हो। सूत्रों की मानें तो यह मामला शासन स्तर तक भी पहुंच गया है। मामले की जानकारी के लिए अपर मुख्य सचिव ने भी फोन किया था। मामला शासन तक गया है तो मुख्यमंत्री कार्यालय तक भी पहुंचेगा। मडराक थाने के इंस्पेक्टर मृदुल कुमार ने बताया कि बालिका शिक्षा के जिला समन्वयक गजेंद्र सिंह ने वार्डन व शिक्षिका के खिलाफ मारपीट व बालिका उत्पीड़न अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच कर की जाएगी।

मडराक का कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *