यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए कैमरे तो कहीं राउटर नहीं, बन गए परीक्षा केंद्र

लखनऊ : परिषद द्वारा जारी यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए 112 विद्यालयों की सूची में 90 फीसद विद्यालयों में राउटर ही नहीं हैं। परीक्षा केंद्रों के प्रत्येक कक्ष में दो-दो सीसी कैमरे, वाइस रिकॉर्डर, नेट के लिए राउटर और बिजली की व्यवस्था अथवा जनरेटर होना अति आवश्यक है। इतनी अव्यवस्थाओं के बीच जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की टीम द्वारा बीते दिनों किए गए केंद्र सत्यापन पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

परिषद द्वारा जारी आदेशों के अनुसार हर एक कक्ष की वीडियो रिकॉर्डिग और वायस रिकॉर्डिग होनी है, जिससे कोई शिक्षक बोल कर भी परीक्षार्थियों को नकल न करा सकें, पर राजधानी स्थित अधिकतर परीक्षा केंद्रों पर यह व्यवस्थाएं नहीं हैं। मेहंदीगंज स्थित जगन्नाथ प्रसाद साहू इंटर कॉलेज में कैमरे तो लगे हैं पर वाइस रिकॉर्डर और राउटर नहीं हैं।

यही हाल, निशातगंज स्थित आर्य कन्या इंटर कॉलेज का है। यहां भी कैमरे और वाइस रिकॉर्डर एवं कैमरे नहीं हैं। सआदतगंज स्थित कस्तूरबा कन्या इंटर कॉलेज में कक्षों में कैमरे तो लगे पर राउटर नहीं। डीएवी इंटर कॉलेज में कक्षों में एक-एक ही कैमरा लगा है।

ये भी पढ़ें : 7786 केंद्रों पर होगी UP Board Exam, केंद्रों की अंतिम सूची जारी

तीन माह से दो कक्षों में नहीं बिजली : डीएवी इंटर कॉलेज के विद्यार्थियों ने बताया कि उनके यहां कॉमर्स के व्यावसायिक कक्ष में दो कमरों में बिजली की व्यवस्था नहीं है। कई बार बच्चों के कहने के बाद भी यहां बिजली की व्यवस्था नहीं कराई गई।

मलिहाबाद के जनता इंटर कॉलेज खड़ौहा में कच्ची फर्श और टिन शेड के नीचे बैठकर परीक्षा देंगे बच्चे ’ जागरण

‘सभी विद्यालय जहां परीक्षा केंद्र बने हैं उन्हें नोटिस जारी कर निर्देश दिए गए हैं कि सीसी कैमरे, वाइस रिकॉर्डर और राउटर समेत अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराकर जल्द सूचना दें। परीक्षा के पहले एक अंतिम स्थलीय निरीक्षण किया जाएगा। उसके बाद परीक्षाएं होंगी। – डॉ. मुकेश कुमार सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक

फिर टिन शेड के नीचे विद्यार्थियों की परीक्षा : मलिहाबाद के खड़ौहां स्थित जनता इंटर कॉलेज में एक बार फिर विद्यार्थियों को टिन शेड के नीचे परीक्षा देनी होगी। क्योंकि फिर इसे परीक्षा केंद्र बनाया गया है। यहां आज भी कुछ कमरों में स्लैब पड़ी है और अन्य टिन शेड के नीचे हैं। यहां कैमरे तो लगे नहीं इसके अलावा वायर रिकॉर्डर एवं राउटर की व्यवस्था नहीं है। वहीं, महात्मा गांधी इंटर कॉलेज के कक्षों में 22 सीसी कैमरे और वाइस रिकॉर्डर लगे हैं पर राउटर नहीं हैं। बीते भी यहां राउटर की जगह वाई-फाई था, जिसके कारण नेट चलाने में दिक्कते हुई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.