शिक्षक भर्ती में बीटीसी प्रशिक्षुओं ने वरीयता की मांग की

लखीमपुर : सरकार की वर्तमान नीतियों के प्रति टीईटी उत्तीर्ण शिक्षामित्रों ने असंतोष जताया है। प्रदेश महामंत्री पारश वर्मा की अध्यक्षता में विलोबी मैदान में बैठक करके टीईटी पास शिक्षामित्रों ने कहा है कि उनके साथ सरकार
सौतेला व्यवहार कर रही है।

टीईटी उत्तीर्ण शिक्षामित्रों की बैठक में प्रदेश मंत्री पारश वर्मा ने कहा कि उनकी प्रतिनिधि मंडल के साथ मुख्यमंत्री तथा अपर सचिव बेसिक शिक्षा मंत्री से वार्ता हुई है जिसमें किसी भी प्रकार की पासिंग मार्क न रखने और अन्य मुद्दों पर पूरा आश्वासन दिया गया था, लेकिन सरकार की ओर से आगामी शिक्षक भर्ती के लिए आगामी नौ जनवरी को लिखित परीक्षा में पासिंग पार्क लगाकर और पिछड़ी जातियों को आरक्षण से वंचित रखते हुए सामान्य वर्ग के साथ रखा गया है।

जबकि उच्चतम न्यायालय के 25 जुलाई के निर्णय के क्रम में टीईटी पास शिक्षामित्रों को उम्र में छूट और अनुभव के आधार पर भारांक देने के लिए सरकार को निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि सरकार के द्वारा लिखित परीक्षा में सिर्फ पासिंग मार्क उच्चतम न्यायालय के आदेशों की अवहेलना की जा रही है। बैठक को हरिकिशन तिवारी, हरेराम रस्तोगी, ऋषिनाथ झा, पवन वर्मा, छोटे लाल आदि ने भी संबोधित किया।

पढ़ें- शिक्षक भर्ती परीक्षा में निजी स्कूलों को झटका

btc trainees demand preference for teacher recruitment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *