चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा का परिणाम घोषित करने मांग की

बीटीसी 2013 बैच के प्रशिक्षुओं ने बुधवार को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय का घेराव कर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा का परिणाम घोषित करने की मांग की। इनकी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा 6 से 8 जुलाई के बीच हुई थी। सचिव डॉ. सुत्ता सिंह ने भरोसा दिलाया कि कॉपियां जंच रही हैं और 10 सितंबर से पहले रिजल्ट आ जाएगा। जिनके रिजल्ट अधूरे हैं वे भी पूर्ण कर डायट व निजी संस्थानों को भेज दिए जाएंगे। 11 से 13 अप्रैल 2016 तथा 8 से 10 अगस्त 2016 तक आयोजित द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा का सैकड़ों अभ्यर्थियों का परिणाम अधूरा है।

जिन अभ्यर्थियों का रिजल्ट रुका है उनमें हाथरस, फिरोजाबाद, बदायूं, अमरोहा, कानपुर नगर, फरुखाबाद, कन्नौज, गाजियाबाद, हरदोई, प्रतापगढ़, गाजीपुर, कुशीनगर, संत कबीर नगर, बस्ती, फैजाबाद, बलरामपुर के प्रशिक्षु शामिल हैं।प्रशिक्षुओ ने कहा यदि इनका परीक्षा परिणाम 12 सितम्बर तक घोषित नहीं हुआ तो वे दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड की ओर से आयोजित प्राथमिक शिक्षक भर्ती से वंचित रह जाएंगे जिसके आवेदन की अंतिम तिथि 15 सितम्बर है। ये सभी प्रशिक्षु सीटीईटी- 16 तथा यूपी-टीईटी- 16 उत्तीर्ण है।

इनकी कुल संख्या आठ हजार है।धरना देने वालों में निशान्त त्रिपाठी अम्बेडकर नगर, अभिषेक त्रिपाठी कौशांबी, रवीश मिश्र बस्ती, राजा ठाकुर बाराबंकी, अंकुर मिर्जापुर, अमित रावत मथुरा, पीयूष मिश्र महराजगंज, अजीत व श्वेता गुप्ता भदोही और अश्विन रायबरेली आदि शामिल थे।

शिक्षक भर्ती में रोड़ा बन गया रिजल्ट: परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय उप्र पर बुधवार को फिर प्रदेश भर के अभ्यर्थियों का प्रदर्शन हुआ। BTC 2013 बैच के अभ्यर्थियों ने चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा का परिणाम घोषित करने की मांग को लेकर धरना दिया। सचिव ने अभ्यर्थियों को आश्वस्त किया है कि लंबित परिणाम 10 सितंबर तक जारी कर दिया जाएगा।

प्रशिक्षुओं ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव डा. सुत्ता सिंह को बताया कि उनकी द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा का परिणाम अपूर्ण है। इसकी परीक्षा 11, 12 व 13 अप्रैल और आठ, नौ व दस अगस्त 2016 को हुई थी। इनमें हाथरस, फीरोजाबाद, बदायूं, अमरोहा, कानपुर नगर, फरुखाबाद, कन्नौज, गाजियाबाद, हरदोई, प्रतापगढ़, गाजीपुर, कुशीनगर, संत कबीर नगर, बस्ती, फैजाबाद व बलरामपुर के अभ्यर्थी परेशान हैं।

प्रशिक्षुओं ने बताया कि वह चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा दे चुके हैं, लेकिन रिजल्ट घोषित नहीं हो रहा है। यदि 12 सितंबर तक परिणाम न आया तो वह दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड की ओर से आयोजित प्राथमिक शिक्षक भर्ती से वंचित रह जाएंगे, उसमें आवेदन की अंतिम तारीख 15 सितंबर है। उनका प्रवेश मार्च 2015 में हुआ था और प्रशिक्षण मार्च 2017 में ही पूरा हो जाना चाहिए था, किंतु अब तक बीते छह, सात व आठ जुलाई को हुई चौथे सेमेस्टर की परीक्षा का रिजल्ट अटका है।

टीईटी 2017 में बढ़ रहे दावेदार : टीईटी 2017 के लिए बुधवार को शाम छह बजे तक एक लाख 60 हजार अभ्यर्थियों ने दावेदारी कर दी है। यह प्रक्रिया बीते 25 अगस्त को दोपहर बाद से शुरू हुई थी, जो 13 सितंबर तक चलेगी। माना जा रहा है कि इस बार दस लाख से अधिक आवेदक होंगे। परीक्षा 15 अक्टूबर को होनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.