जुलाई में परिषदीय विद्यालय खुलते ही बच्चो के हाथ में किताब देने कि योजना सरकार ने बनाई

जुलाई में परिषदीय विद्यालय खुलते ही बच्चो के हाथ में किताब देने कि योजना सरकार ने बनाई है। इस योजना के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। ये स्कूल खुलने पर ही पता पड़ेगी इस योजना में कितना दम। बहराल बेसिक शिक्षा परिषद में किताबों की आमद शुरू हो चुकी हैं। प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में निर्धारित संख्या में पुस्तकें भेजना शुरू कर दिया है। यूनिफार्म भी पहले महीने में वितरित कर दी जाये ऐसी उम्मीद है। विद्यालय गर्मी की छुट्टियां समाप्त होने के बाद 2 जुलाई से खुल जाएंगे। बेसिक शिक्षा परिषद से जुड़े बच्चों को मिलने वाली सुविधा देने में इस बार थोड़ी फुर्ती दिखाई जाएगी। बच्चों को स्कूल खुलते ही किताबें दे दी जाएंगी।

बीएसए संजय कुशवाहा का कहना है कि प्रदेश के स्कूलों से छात्रों की संख्या प्राप्त हो गई है। नगर के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में चार लाख से अधिक छात्रएं कक्षा एक से आठ में अध्ययनरत हैं। जनपद में 3962 विद्यालय हैं। इसमें प्राथमिक स्तर के 2581 एवं उच्च प्राथमिक स्तर के 1281 स्कूल हैं। उन्होंने बताया है कि कई स्कूलों में में किताबें भेजी जा चुकी हैं। सभी स्कूलों में जुलाई महीने के भीतर किताबें मिल जाएंगी। प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में नवीन प्रवेश प्राप्त छात्र-छात्रओं को ही छात्र-छात्रओं को ही नया जूता, मोजा और बैग मिलेगा। हालांकि, स्कूल के सभी बच्चों को किताब, ड्रेस तो मुफ्त में मिलेंगे। बीएसए का कहना है कि प्रत्येक शैक्षिक सत्र में सभी छात्रों को मिड-डे-मील, यूनिफार्म, किताबें तो अनिवार्य रूप से मिलता है। पर, सभी छात्रों को जूते मूजे, स्वेटर एवं स्कूल बैग नहीं मिल पाएंगे।

पढ़ें- Retired Teachers will Teach in Madhyamik Vidyalaya

1 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *