गोष्ठी में जिले के 10 हजार शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों को बड़ी राहत

गोंडा। ब्लाक संसाधन केंद्र पर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की शैक्षिक उन्नयन गोष्ठी में जिले के 10 हजार शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों को बड़ी राहत मिली है। सहायक बेसिक शिक्षा निदेशक विनय मोहन वन ने कहा कि शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई में अब मनमानी नही चलेगी। अब गैरहाजिर मिले शिक्षकों से स्पष्टीकरण लेने के बाद ही कार्रवाई होगी।
कार्यक्रम में सेवानिवृत्त एवं नवनियुक्त शिक्षकों का सम्मान भी किया गया। एडी बेसिक शिक्षा ने सेवानिवृत्त शिक्षक को समाज कल्याण में आगे आने के लिए प्रेरित किया। इसके साथ ही जिले के 1400 के करीब नवनियुक्त शिक्षकों के अभिलेखों का सत्यापन कार्य शीघ्र पूरा कराकर वेतन देने के लिए आदेश जारी करने का भरोसा दिया।

विधायक प्रेम नरायन पांडेय ने कहा कि शिक्षा जगत में भाजपा सरकार ने क्रांतिकारी परिवर्तन लाने का काम किया है। कायाकल्प योजना ने प्राथमिक विद्यालयों की तस्वीर बदल दी है। जिलाध्यक्ष बिनय तिवारी ने कहा कि सेवानिवृत्त शिक्षकों से हमें मार्गदर्शन मिलता रहेगा।
वहीं नवनियुक्त शिक्षको के वेतन में दलाली नहीं चलने दी जायेगी। उन्होंने पुरानी पेंशन बहाली की मांग भी की। कार्यक्रम में प्रधानाध्यापक डा ध्रुव नारायण पांडेय ने अतिथियों को यथार्थ गीता पुस्तक भी वितरित की। कार्यक्रम की अध्यक्षता ब्लॉक अध्यक्ष बलवंत सिंह ने किया।
103 नवनियुक्त शिक्षकों और आठ रिटायर शिक्षकों को इस अवसर पर सम्मानित किया गया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. इन्द्रजीत प्रजापति, उमाशंकर सिंह, डा अरुण सिंह, सुनीता पाण्डेय, रमेश कुमार पांडेय, ज्ञानचंद यादव, वीपेन्द्र सिंह, धर्मेंद्र पांडेय, आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन प्रख्यात कवि शिवपूजन शुक्ल ने किया।