शिक्षामित्र रहते पूरी की पढ़ाई करने की शिकायत पर बेसिक शिक्षा विभाग ने लिया एक्शन

भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी केवल फ़र्ज़ी मार्कशीट से होती है, ऐसा बिलकुल नहीं है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती में पाया गया है। इस शिक्षक भर्ती में फर्जी बीएड व बीटीसी की अंकतालिका के सहारे तो गड़बड़ी हुई है। इससे इंकार नहीं किया जा सकता है। एक गड़बड़ी का एक और खुलासा हुआ है वो है पद पर रहते हुए पूरी पढ़ाई करना। शिक्षामित्रों ने संविदा पर काम करते हुए डिग्री हासिल कर ली है। इन्ही डिग्रियों के सहारे अब वो नौकरी कर रहे है। ऐसे करीब आधा दर्ज़न लोगो के खिलाफ बेसिक शिक्षा अधिकारी से शिकायत की गई है। अब इस मामले की जाँच करने के बात चल रही है। पूर्व की सरकार में शिक्षमित्रों को शिक्षक भर्ती में वेटेज मिल रहा था। इस वेटेज का लाभ लेकर कुछ शिक्षामित्र शिक्षक बन गए है।

मूरतगंज क्षेत्र के आधा दर्ज़न शिक्षामित्र पद पर रहते हुए बीएड और बीटीसी की पढ़ाई भी कर रहे है। उन्होंने बीएड और बीटीसी की पढ़ाई करने के लिए न ही विभाग से अनुमति ली है और न ही एक भी दिन अवकाश लिया है। ऐसा कैसे संभव हो सकता है कि एक व्यक्ति नौकरी के साथ पढ़ाई भी किया है। इस अवधि में शिक्षामित्र वाकया मानदेय भी लेते रहे है। अब वो शिक्षामित्र कि नौकरी छोड़कर सहायक अध्यापक पद पर कार्यरत है। मूरतगंज ब्लॉक में तैनात शिक्षकों की जाँच करने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र सिंह से शिकायत की गई है। बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र सिंह ने जाँच करने की बात कही है उन्होंने बताया है कि कुछ लोगो कि शिकायत मिली है कि शिक्षामित्र रहते हुऐ बीएड व बीटीसी की पढ़ाई पूरी कर ली है अब वो सहायक अध्यापक कि नौकरी कर रहे है। यदि ऐसा मिला तो उनके खिलाफ कार्यवाही होगी।

पढ़ें- shiksha mitra samviliyan in Basic Shiksha Vibhag

Basic Shiksha Vibhag

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *