बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में यूनीफार्म और किताबें मुहैया कराने की जवाबदेही तय हो

Basic Shiksha Parishad के विद्यालयों में यूनीफार्म और किताबें मुहैया कराने की जवाबदेही तय हो गई है। दोनों का जुलाई में वितरण होना है, यह काम इतने कम समय में हो पाना आसान नहीं है। इससे बड़े अफसर ठीक से वाकिफ हैं, फिर भी मातहतों को सक्रिय रखने के लिए कड़े निर्देश दिये गए हैं। गर्मी की छुट्टियां इस कार्य में सबसे बड़ी बाधा बनी है।

परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक व शासकीय सहायता प्राप्त स्कूलों, मदरसों और माध्यमिक विद्यालयों से संबद्ध स्कूलों में किताबें मुहैया कराने का टेंडर कुछ दिन पहले ही हुआ है और यूनीफार्म का धन भी चंद दिन पहले ही जिलों में भेजा गया। सरकार का निर्देश है कि यह दोनों वितरण हर हाल में जुलाई में पूरे करा लिए जाये। महज एक माह में लाखों छात्र-छात्रओं को किताबें और यूनीफार्म मुहैया करा पाना आसान नहीं है।

शायद इसीलिए जिले व मंडल के अफसरों को कड़े निर्देश जारी हुए हैं, ताकि वह सक्रिय रहकर कार्य पूरा करा दें। शिक्षा निदेशक बेसिक डा. सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह ने पिछले सप्ताह बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया है कि कक्षा एक से आठ तक की निश्शुल्क पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध कराने के लिए वास्तविक छात्र संख्या के आधार पर कक्षावार और शीर्षक वार पुस्तकों का विवरण तैयार करके उसे 30 मई तक भिजवाएं।

basic shiksha parishad sachiv संजय सिन्हा ने सोमवार को सभी बीएसए को निर्देश भेजा है कि गुणवत्तायुक्त यूनीफार्म की क्रय प्रक्रिया, वितरण प्रक्रिया और उसका अनुश्रवण के साथ ही इस कार्य में अनियमितता होने पर उत्तरदायित्व निर्धारण किया गया है। इस कार्य में बीएसए, डीआइओएस व मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक जिम्मेदार होंगे। यूनीफार्म वितरण एक से 15 जुलाई के बीच विद्यालय की प्रबंध समिति के माध्यम से होना है। इसलिए यूनीफार्म तैयार कराकर उसे समय से वितरित करवाएं।

पढ़ें- 40 Years old Surplus Teacher removed from Ashaskiya Madhyamik Vidyalaya

Basic Shiksha Parishad Vidyalaya Uniforms and Books

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *