दो साल का ही होगा बीएड, नई शिक्षा नीति से भ्रमित न हों अभ्यर्थी

लखनऊ विश्वविद्यालय (एलयू) वर्ष 2020 के लिए बीएड प्रवेश परीक्षा आयोजित करवाने जा रहा है। करीब दो लाख बीएड की सीटों के लिए अब तक करीब 25 हजार रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। लेकिन न्यू एजुकेशन पॉलिसी को लेकर अभ्यर्थी भ्रमित भी हो रहे हैं। इसपर बीएड परीक्षा की संयोजक प्रो. अमिता बाजपेई ने बताया कि नई पॉलिसी का ड्राफ्ट नहीं बन पाया है, ऐसे में इस बार भी बीएड दो वर्ष का ही होगा।

प्रो. अमिता ने बताया कि न्यू एजुकेशन पॉलिसी के तहत बीएड इस बार एक साल का होने जा रहा था जो किसी कारणवश नहीं हो पाया। ऐसे में छात्र बेहद कंफ्यूज हैं और वे बार-बार हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके बीएड के सेमेस्टर के बारे में पूछताछ कर रहे हैं। अधिकतर छात्रों के फोन आ रहे हैं कि यदि वे पीजी कर रहे हैं तो क्या उन्हें केवल एक साल का बीएड कोर्स करना होगा या दो साल का। वहीं, ग्रेजुएशन के छात्रों का भी यही हाल है वे भी उनसे एक साल या दो साल के कोर्स का सवाल कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि उम्मीद है कि अगले साल एजुकेशन पॉलिसी लागू होने के बाद बीएड कोर्स एक वर्ष का हो जाएगा। उन्होंने बताया कि रजिस्ट्रेशन 12 फरवरी से शुरू हुए थे। अब तक करीब 1,200 फॉर्म भरे जा चुके हैं।

ये भी पढ़ें : Uttar Pradesh B.Ed JEE Admissions 2020

15 शहरों में होगी परीक्षा : लविवि छठी बार बीएड प्रवेश परीक्षा आयोजित करवाने जा रहा है। 15 शहरों में दो पालियों में यह परीक्षा होगी, जिसमें दो पेपर होंगे। सभी केंद्रों में वाईफाई युक्त सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे ताकि मोबाइल पर भी लाइव फुटेज देखी जा सके। पिछली बार ये परीक्षा रूहेलखंड यूनिवर्सिटी ने करवाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.