दूर गांवों में स्थित निरीक्षण करने से बचते है बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी सामने आया सच

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी दूर गांवों में स्थित निरीक्षण करने से बचते हैं। यह सच सामने आया है कि सितम्बर 2020 से मार्च 2021 तक की निरीक्षण रिपोर्ट में। महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिख कर कहा है कि अधिकारी पहले दूर क्षेत्रों में स्थित स्कूलों का निरीक्षण करें। इसके बाद ही शहरी क्षेत्रों या मुख्य सड़कों पर स्थित स्कूलों का निरीक्षण हो। उन्होंने कहा है कि सितम्बर 2020 से मार्च 2021 तक 144088 स्कूलों के निरीक्षण का लक्ष्य था लेकिन 107783 स्कूलों का ही निरीक्षण किया गया।

36305 स्कूलों को निरीक्षण नहीं किया। रिपोर्ट देखने से पता चल रहा है कि जिला-तहसील मुख्यालय, ब्लॉक मुख्यालयों के आसपास स्थित स्कूलों का निरीक्षण तो किया जा रहा है लेकिन दूर के स्कूल निरीक्षण से वंचित है। श्रावस्ती, कुशीनगर, प्रतापगढ़, कानपुर देहात, आगरा ऐसे जिले हैं जहां निरीक्षण 50-60 फीसदी स्कूलों तक ही अधिकारी पहुंचे हैं। वहीं मुजफ्फरनगर, अमेठी, बस्ती, बागपत, वाराणसी व हापुड़ ऐसे जिले हैं जहां 90 फीसदी स्कूलों का निरीक्षण हो चुका है। हापुड़ ऐसा जिला है जहां 567 में से केवल आठ स्कूलों का निरीक्षण ही बाकी है।

अधिकारियों को प्रेरणा ऐप पर निरीक्षण मॉड्यूल के तहत निरीक्षण करना होता है और रियल टाइम डाटा भरना होता है वहीं फोटो भी अपलोड करनी होती है ताकि कोई गलत जानकारी न भर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.