शिक्षकों की छुट्टियां मंजूर करने में अब अधिकारियों की मनमानी नहीं चलेगी

गोरखपुर। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की छुट्टियां मंजूर करने में अब अधिकारियों की मनमानी नहीं चलेगी। शिक्षकों का अवकाश स्वीकृत नहीं करने पर मानव संपदा पोर्टल पर इसका कारण बताना होगा। बेसिक शिक्षा विभाग ने इसके लिए पोर्टल पर एक नया मेन्यू जोड़ा है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने सभी बीएसए और खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किया है।

आदेश के मुताबिक किसी भी अवकाश के आवेदन को लंबित रखने या उसे नामंजूर करने पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मानव
संपदा पोर्टल पर अवकाश के लिए आवेदन करने के बाद संबंधित शिक्षक से व्यक्तिगत रूप से संपर्क नहीं किया जाएगा।

किसी भी प्रकार के अवकाश संबंधी अभिलेख के लिए उन्हें नहीं। बुलाया जाएगा। अगर कहीं ऐसी स्थिति का पता चलेगा तो खंड शिक्षा अधिकारी के खिलाफ विजिलेंस जांच शुरू कर दी जाएगी। इसके लिए शिक्षकों का फीडबैक लिया जा रहा है। प्रेरणा इंस्पेक्शन माड्यूल और मानव संपदा पोर्टल की लाइव रिपोर्ट को लिंक करके यह देखा जाएगा कि कौन-कौन से शिक्षक बिना अवकाश लिए अनधिकृत रूप से स्कूल में अनुपस्थित हैं। ऐसी स्थिति में शिक्षक और खंड शिक्षा अधिकारी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

मानव संपदा पोर्टल के माध्यम से ही अवकाश स्वीकार किए जा रहे हैं। अब अवकाश स्वीकृत नहीं करने का कारण भी पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश मिला है। इसके बारे में सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को जानकारी प्रदान की जा रही है।

•बीएन सिंह, जिला बेसिक शिक्षा – अधिकारी