69000 भर्ती के भ्रष्टाचार को दबाने से बढ़ रहा युवाओं का गुस्सा, डीएम को सौंपा ज्ञापन

शिक्षक भर्ती में हुई धांधली के चलते प्रतियोगी छात्रों का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है. परीक्षार्थियों ने शिक्षक भर्ती में हुए भ्रष्टाचार की जाँच सीबीआई कराने और UP Master भर्ती को रद्द करने की मांग की है. न्याय मोर्चा के संयोजक सुनील मौर्य ने कहा कि सरकार राज्य में मनमाने तरीके से कानूनों लागू कर रही है कोर्ट के फैसले को भी अपने पक्ष में होने पर ही लागू करना चाहती है. एसएसपी का ट्रांसफर कर प्रतीक्षा सूची में डालना यह दर्शाता कि सरकार भ्रष्टाचार को दबाने की कोशिश कर रही है.

69000 शिक्षक भर्ती घोटाले को लेकर डीएम को सौंपा ज्ञापन
69 हज़ार शिक्षक भर्ती में हुए भ्रष्टाचार के विरोध में मंगलवार को समाजवादी छात्रसभा ने छात्रसंघ भवन से जिलाधिकारी कार्यालय तक सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए पैदल मार्च निकलकर घेराव किया. जिलाधिकारी कार्यालय के घेराब करते हुए छात्रों ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा. विरोध प्रदर्शन की अगुवाई पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह ने की. उन्होंने कहा कि चाल-चरित्र की बात करने बाली योगी सरकार बेनकाब हो गई है. विरोध करने वालों में अजीत यादत्र, अविनाश विद्यार्थी, अजय यादव सम्राट, अरबिंद सरोज, अबनीश यादब,आयुष प्रियदर्शी, मोहम्मद मसूद अंसारी, गोलू पासवान मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.