प्रदेश में सपा सरकार बनने के बाद बीपीएड अनुदेशकों की होगी भर्ती – अखिलेश यादव

  

Akhilesh Yadavप्रदेश में सपा सरकार बनने के बाद बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों में 32,022 बीपीएड अनुदेशकों की भर्ती होगी। इसके साथ मानदेय पर नियुक्त अनुदेशकों को समायोजित किया जाएगा। बीपीएड अनुदेशकों की भर्ती व अनुदेशकों को विनियमित किये जाने को सपा अपने घोषणापत्र में शामिल करेगी।

सपा मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह आश्वासन बुधवार को लखनऊ में बीपीएड संघर्ष मोर्चा 32022 व अनुदेशक संघ के व प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान दिया। बीपीएड संघर्ष मोर्चा 32022 के प्रदेश अध्यक्ष देवेन्द्र पांडेय के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को सपा मुखिया से मुलाकात की। प्रदेश अध्यक्ष ने सपा मुखिया को बताया कि सपा शासनकाल में 32,022 बीपीएड अनुदेशकों की भर्ती निकली थी लेकिन आचार संहिता लगने के कारण प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी। उसके बाद से बीपीएड अनुदेशक भर्ती के लिए चक्कर काट रहे हैं। हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद मौजूदा सरकार भर्ती नहीं कर रही है। प्रदेश अध्यक्ष ने बीपीएड अनुदेशक भर्ती को सपा के घोषणापत्र में शामिल करने का अनुरोध भी किया। प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश महासचिव आकाश गुप्ता, अखिलेश, राधेश्याम, विकास दूबे एवं धर्मेन्द्र शामिल थे। अनुदेशक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम सिंह ने सपा मुखिया को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि प्रशिक्षित स्नातकधारी शिक्षक की श्रेणी में नियुक्त अनुदेशकों को सिर्फ सात .हजार रूपये मानदेय दिया जाता है। 2017 में अनुदेशकों मानदेय 17 हजार किया गया। कुछ महीने तक इसे दिया गया लेकिन बाद में इसकी रिकवरी भी होने लगी। उन्होंने कहा कि परिषदीय विद्यालयों की शैक्षिक व्यवस्था को बेहतर बनाने में अनुदेशक कड़ी मेहनत कर रहे हैं लेकिन उनके साथ अन्याय किया जा रहा है। उन्होंने अनुदेशकों को समायोजित करने की मांग की। बीपीएड संघर्ष मोर्चा 32022 के प्रदेश अध्यक्ष देवेन्द्र पांडेय व अनुदेशक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम सिंह ने बताया कि सपा मुखिया से मुलाकात काफी सफल रहीं। उन्होंने अनुदेशकों की समस्याओं को गंभीरतापूर्वक सुनते हुए सपा सरकार बनने पर इसके निस्तारण का आश्वासन दिया है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *