सहायक अध्यापक बनने के इंतजार में तकरीबन 6000 युवा 3 साल से

Courtप्रयागराज: परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक बनने के इंतजार में तकरीबन 6000 युवा 3 साल से हैं। 12460 शिक्षक भर्ती में सोनी जनपद का विवाद सुलझा नहीं पा रहा। 3 साल से कोर्ट में सिर्फ तारीख मिल रही है।

15 दिसंबर 2016 को शुरू हुई 12460 भर्ती के विज्ञापन में प्रदेश के 75 में से 24 जिलों में एक भी पद रिक्त नहीं था। इन 24 जिलों के अभ्यर्थियों को किसी एक अन्य जनपद में आवेदन की छूट। 16 मार्च 2017 को पहली काउंसलिंग हुई लेकिन सरकार बदलने के बाद नई सरकार ने 23 मार्च 2017 को भर्ती पर रोक लगा दी।

यह भी पढ़ेंः  भर्ती परीक्षाएं स्थगित होने से यूपीपीएससी का परीक्षा कैलेंडर गड़बड़ा गया

16 अप्रैल 2018 को मुख्यमंत्री ने भर्ती शुरू करने की अनुमति दी। 30 अप्रैल 2018 को फिर चयनितों काउंसलिंग हुई लेकिन 18 अप्रैल 2018 को हाईकोर्ट ने 240 जनपद के सैनिकों को नियुक्ति पत्र देने पर रोक लगा दिया। 1 मई 2018 को मुख्यमंत्री ने 51 जिले के लगभग 6512 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिया। बुलाई है लेकिन 5948 सैनिकों की नियुक्ति फस गई। उसके बाद हाईकोर्ट ने 1 नवंबर को नियम के अनुसार भर्ती के आदेश दिए इसके खिलाफ सरकार ने 22 नवंबर 2018 को डबल बेंच में अपील की। नियुक्ति का इंतजार कर रहे घोड़ा के मोहित द्विवेदी और फर्रुखाबाद की अंकित राजपूत का कहना है कि अब तक डेढ़ दर्जन बार तारीख लग चुकी है। लेकिन पैरवी करने सरकारी वकील अधिवक्ता नहीं पहुंचते। 14 सितंबर को भी सुनवाई होनी थी लेकिन आखिरी तारीख लग गई।

यह भी पढ़ेंः  प्रयागराज जिले में बढ़ेंगे 17 और नए परीक्षा केंद्र