फर्जी बीएड डिग्री के आधार बीएसए ने शिक्षिका को किया बर्खास्त

बाराबंकी। फर्जी बीएड डिग्री के आधार पर विकास खंड देवा के पूर्व माध्यमिक विद्यालय केसरुवा में कार्यरत शिक्षिका को बीएसए ने बर्खास्त कर दिया है। उन्होंने फर्जी शिक्षिका के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने व वेतन के रूप में ली गई धनराशि की वसूली किए जाने के आदेश दिए हैं। बीएसए की इस कार्रवाई से हड़कंप मचा है।

2011 में हुई थी पहली नियुक्ति: विकास खंड देवा के पूर्व माध्यमिक विद्यालय केसरुआ में बीएड की फर्जी डिग्री पर नौकरी रही सहायक अध्यापक साधना सिंह की पहली तैनाती जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, श्रावस्ती के आदेश पर विकास खंड जमुनहा के प्राथमिक विद्यालय पसियनपुरवा में हुई थी।

अंतर जपदीय तबादले में चुना बाराबंकी जिला: साधना सिंह ने बेसिक शिक्षा विभाग में हुए अंतर जनपदीय तबादले में बाराबंकी जिला चुना। वह 26 अगस्त ़2016 को अपने पूर्व विद्यालय से स्थानांतरित होकर 31 अगस्त ़2016 को बीएसए कार्यालय में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। 28 सितम्बर 2016 को बीएसए द्वारा साधना सिंह को विकास खंड देवा के पूर्व माध्यमिक विद्यालय केसरुवा में तैनाती दी गई। तब से वह यही पर कार्यरत थीं।

एसआईटी की फेंक शिक्षकों की सूची में साधना का नाम:

पुलिस उपमहानिदेशक, विशेष अनुसंधान दल, उप्र लखनऊ द्वारा 15 जून 2020 जारी गई 814 फर्जी शिक्षकों की सूची में साधना सिंह का नाम 498 नम्बर है। इस सूची के आधार पर बीएसए ने साधना सिंह से अपने समस्त मूल शैक्षिक अभिलेख, पैन कार्ड, आधार कार्ड सहित स्पष्टीकरण तीन दिनों में बीईओ के माध्यम से मांगा गया। लेकिन उन्होंने से समय से अपना स्पष्टीकरण नहीं दिया। दोबारा स्पष्टीकरण तलब किए जाने पर शिक्षिका साधना सिंह ने अपना स्पष्टीकरण शैक्षिक अभिलेख, पैन कार्ड, आधार कार्ड

खण्ड शिक्षा अधिकारी, देवा को दिया। जिसमें दिनांक भी लिखा गया था। उन्होंने बताया कि उन्होंने अपना जवाब विश्वविद्यालय में दाखिल कर दिया है। जिसके पश्चात विश्वविद्यालय में जांच चल रही है और हाईकोर्ट में भी इस कार्यालय के विरुद्घ स्टे आर्डर आ चुका। उनके सभी शैक्षिक अभिलेख सही हैं।

दिए रिकवरी के आदेश: बीएसए ने बीईओ देवा के माध्यम से जांच कराई तो पाया गया कि डा भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय, आगरा द्वारा निर्गत बीएड परीक्षा-2005 अंकपत्र रोल नं0 5185124 साधना सिंह पुत्री

देवता प्रसाद सिंह, कालेज रामेश्वरी देवा कन्या महाविद्यालय, आगरा, नामांकन संख्या-0264501 संस्थागत अंकित है। जिसका एसटीएफ से प्राप्त फेक अभ्यर्थियों की सूची से मिलान किया गया तो सूची क्रमांक 498 पर अंकित साधना सिंह पुत्री डीपी सिंह रोल नं0-5185124, रामेश्वरी देवी कन्या महाविद्यालय, आगरा सही पाया गया है। इसके साथ ही अन्य बिंदुओं को लेकर बीएसए ने 15 जून 2021 ने शिक्षिका साधना सिंह को नोटिस भेजी और तीन दिन में जवाब तलब किया। लेकिन जवाब संतोष जनक नहीं होने पर बीएसए ने शिक्षिका साधना सिंह को सेवा से बर्खास्त कर दिया। साथ ही उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने और वेतन के रूप में ली गई धनराशि की वसूली किए जाने के आदेश दिए गए हैं।