69000 शिक्षक भर्ती में करीब पांच हजार से अधिक पद खाली

प्रयागराज : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों की 69000 शिक्षक भर्ती में करीब पांच हजार से अधिक पद खाली हैं। प्रदेश के आधे करीब 30 बेसिक शिक्षा अधिकारियों ने अधिकृत रिक्त पदों की संख्या नहीं भेजी है, जबकि परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल अब तक तीन पत्र लिख चुके हैं। इस बार बेसिक शिक्षा निदेशक ने बीएसए को सख्त पत्र लिखकर 14 अप्रैल तक सूचना मांगी है। इतना ही नहीं शिक्षा राज्यमंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने 23 मार्च को ही इस संबंध में निर्देश दिया था।

69000 शिक्षक भर्ती करीब दो साल से लेटलतीफी का शिकार है। दो चरणों में काउंसिलिंग कराकर अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी, फिर भी लगभग चार हजार पद विभिन्न वर्गो में खाली हैं। साथ ही 1133 अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थी मिले ही नहीं, इन पदों को अनुसूचित जाति में बदलकर चयन किया जाना है। इस भर्ती की लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होने वालों की तादाद 1.46 लाख रही है ऐसे में हजारों योग्य अभ्यर्थी चयन सूची की राह देख रहे हैं। महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने प्रयागराज दौरे में कहा था कि तीसरे चरण की काउंसिलिंग कराकर रिक्त पद भरे जाएंगे। वहीं, शिक्षा राज्यमंत्री ने भी इस संबंध में निर्देश दिए हैं।

परिषद सचिव ने जिला चयन कमेटी को रिक्त पदों का विवरण उपलब्ध कराने के लिए 25 मार्च, 30 मार्च और 05 अप्रैल को तीन पत्र बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजा है। बार-बार आदेश के बाद भी अफसर सूचना नहीं दे रहे हैं। 11 अप्रैल को निदेशक बेसिक शिक्षा ने पत्र लिखा है। जिलों में हजारों अभ्यर्थी अधिकारियों से संपर्क करके सूची को शीघ्र भेजने का अनुरोध कर रहे हैं।

इन जिलों ने नहीं भेजी रिपोर्ट

मेरठ, आगरा, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, बरेली, पीलीभीत, फतेहपुर, वाराणसी, जौनपुर, मीरजापुर, हरदोई, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, कुशीनगर, महराजगंज, संतकबीर नगर, झांसी, बांदा, अयोध्या, अंबेडकर नगर, गोंडा, बलरामपुर, मुरादाबाद, कानपुर नगर, कानपुर देहात, इटावा, फरुखाबाद, कन्नौज व आजमगढ़।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.