पीसीएस 2019 प्री परीक्षा में 58 फीसद अभ्यर्थी हुए शामिल

प्रयागराज : सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा (पीसीएस) सहायक वन संरक्षक (एसीएफ) व क्षेत्रीय वन अधिकारी सेवा (आरएफओ) परीक्षा 2019 की प्रारंभिक परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुई। प्रदेश के 19 जिलों में 1166 केंद्रों पर दो पालियों में आयोजित हुई परीक्षा में कहीं से नकल, पेपर लीक, हंगामा होने जैसे मामले सामने नहीं आए। पीसीएस के 309, एसीएफ के दो व आरएफओ के 53 पदों की परीक्षा के लिए 5,44,664 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। जबकि परीक्षा में लगभग 58 प्रतिशत यानी 3,18,624 अभ्यर्थियों की उपस्थिति रही। प्रयागराज में 51,668 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जिसमें 39,646 परीक्षा में शामिल हुए। प्रयागराज में 111 केंद्रों में परीक्षा कराई गई।

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा पीसीएस, सहायक वन संरक्षक, क्षेत्रीय वन अधिकारी सेवा की प्रथम पाली की परीक्षा सुबह 9.30 से 11.30 बजे तक चली। जबकि द्वितीय पाली की परीक्षा दोपहर 2.30 से 4.30 बजे तक कराई गई। परीक्षा को नकलमुक्त बनाने के लिए आयोग ने इस बार काफी कड़ाई की थी। परीक्षा केंद्रों के अंदर व बाहर सीसीटीवी कैमरे से निगरानी कराई गई। केंद्र के आस-पास मोबाइल की नेटवर्किंग ध्वस्त करने के लिए जैमर लगाया गया था। परीक्षा केंद्रों के आस-पास परिजनों को रुकने की अनुमति नहीं थी। नकल रोकने को केंद्र पर हर समय अधिकारियों की आवाजाही बनी रही।

फरवरी के अंत तक आएगा रिजल्ट : उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के एकेडमिक कैलेंडर में पीसीएस, एसीएफ व आरएफओ परीक्षा 2019 की मुख्य परीक्षा अप्रैल 2020 में प्रस्तावित है। ऐसे में 2020 के फरवरी माह के अंत तक प्री परीक्षा का रिजल्ट घोषित हो सकता है। मार्च माह में मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

पीसीएस, एसीएफ व आरएफओ परीक्षा 2019 की प्रारंभिक परीक्षा हर जिले में शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गई है। कहीं भी अप्रिय घटना नहीं हुई। न ही पेपर लीक, नकल का मामला प्रकाश में आया है। -जगदीश, सचिव उप लोकसेवा आयोग।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.