जेट्रोफा की पत्ती खाकर स्कूल के 35 बच्चे बीमार

  

रामसनेहीघाटः बाराबंकी के जूनियर हाईस्कूल डिगसरी के पास लगे जेट्रोफा की पत्ती खाकर गुरुवार सुबह करीब 11 बजे 35 छात्र-छात्राएं बीमार पड़ गए। आननफानन ऐम्बुलेंस बुलाकर बच्चों को सीएचसी बनीकोडर ले जाया गया। वहां बच्चों ने पेट में गैस बनने की शिकायत की। डॉक्टरों ने इलाज के बाद बच्चों को अस्पताल से घर भेज दिया। एक साथ इतनी अधिक संख्या में बच्चों के बीमार हालत में पहुंचने से सीएचसी पर एक बेड पर चार-पांच बच्चों को भर्ती करना पड़ा।

सीएचसी ले जाए गए छात्र-छात्राओं के नाम शिवकेश, हरिहर, श्रीकुमार, विवेक, आदर्श, अंकुर, मोनू, तनी, रोली, कांति, मानसी, माधवी, रातरानी, मोनू, अमर, मंजली, काजल, सरिता, विश्वास, आंचल, अमरेंद्र, अरुण, सुंदर, आदेश, कृष्णा, मेहरबान, अली, करण, अंजलि, अजीत, अमर, अमीन, प्रदीप, आंचल, सविता है।

जेट्रोफा की पत्ती खाने से छात्र सीएचसी लाए गए थे। सभी की हालत में सुधार पर छुट्टी कर दी गई है। अब खतरे की कोई बात नहीं है। – रमेश चंद्रा, सीएमओ, बाराबंकी

बीएसए वीपी सिंह ने बताया कि जूनियर हाईस्कूल डिगसरी में गुरुवार सुबह करीब 11 बजे कुछ बच्चे स्कूल के पास में लगे जेट्रोफा के पौधे की पत्ती तोड़े लाए और खट्टी लगने पर अन्य बच्चों को खाने के लिए दे दी। इसके कुछ देर बाद ही इन बच्चों ने पेट में दर्द की शिकायत की। शिक्षकों ने एक के बाद एक छात्र की शिकायत पर तत्काल बीईओ बनीकोडर अजीत सिंह को जानकारी दी। बीईओ ने तत्काल एम्बुलेंस बुलाकर बच्चों को सीएचसी बनीकोडर भेजे जाने के आदेश दिए। इन बच्चों का इलाज किया गया। वहां पर कुछ घंटे रुकने के बाद सभी को उनके घरों को भेज दिया गया। बीएसए ने बताया कि इस घटना से मध्याह्न भोजन भी छात्र-छात्राओं को वितरित नहीं किया जा सका।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *