उच्च प्राइमरी स्कूलों में 21 हज़ार भाषा शिक्षक की भर्ती की जाएगी

  

प्रदेश सरकार द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि अब बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राइमरी स्कूल में भाषा शिक्षक की भर्ती की जाएगी। इस समाचार से उन लोगो ने बहुत राहत की सांस ली है, जिन्होंने टीईटी पास किया है। सरकार ने पहली बार भाषा शिक्षको की भर्ती के लिए बेसिक शिक्षा परिषद से उच्च प्राइमरी स्कूलों में खली रिक्तियों का ब्यौरा माँगा है। जिससे भाषा शिक्षको की भर्ती में कोई कठिनाई न आये। सूत्रों के मुताबिक उच्च प्राइमरी स्कूलों में करीब 21 हज़ार पद खली है। इन पदों को भरने के लिए सरकार पूरी कोशिश कर रही है। इस भर्तियों प्रक्रिया से 21 हज़ार भाषा शिक्षकों की किस्मत चमक जाएगी और उनको बहुत राहत मिलेगी। ये भर्ती प्रतिक्रिया सुप्रीम कोर्ट में दाखिल विशेष अनुज्ञा याचिका (एसएलपी) पर फैसला आने के बाद शरू करने पर विचार किया जा रहा है।

बेसिक शिक्षा परिषद सचिव नीतीश्वर बताया कि टीईटी परीक्षा भाषा शिक्षकों के लिए आयोजित की जा चुकी है। जो अभ्यर्थी टीईटी परीक्षा पास कर चुके है वो इस रिक्त पदों कि भर्ती में शामिल हो सके। उच्च प्राइमरी स्कूलों में भी भाषा शिक्षकों की जरूरत है। जिससे छात्रों का भला होगा। इन सब पर एसएलपी पर फैसला आने के बाद विचार किया जायेगा। वेसे भी सूबे में शिक्षकों की कमी चल रही है। इन सभी पदों को भरने के लिए सरकार ने ये जॉब निकली है। प्रदेश के परिषदीय स्कूलों में 2,91,906 शिक्षकों की कमी है। यह बहुत बड़ी कमी है।

प्रदेश के प्राइमरी स्कूलों में 2,36,398 तथा उच्च प्राइमरी में 55,508 शिक्षकों की कमी है। यदि इन सभी रिक्त पदों पर भर्ती हो जाती है, तो टीईटी व  बीएड Pass वालों को बड़ी रहत मिलेगी। पिछले दो वर्षों से प्रेदश में शिक्षकों के रिक्त पदों पर भर्ती के प्रयास चल रहे हैं, लेकिन भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हो पा रही है। प्रदेश की शिक्षकों भर्ती प्रक्रिया में कोई न कोई पेंच फस जाता है जिसके कारण भर्ती प्रक्रिया अटक जाती है। पहले कुछ भर्ती निकली थी तो उन में भी कुछ पेंच फस गया था। इस कारण से उन रिक्त पदों की भर्ती में देर लग रही है। जैसे प्राथमिक विद्यालय में 72,825 और फिर उच्च प्राइमरी स्कूल में गणित व विज्ञान के 29,334 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया फंस गई।

बेसिक शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश सुप्रीम कोर्ट के एसएलपी फैसले का इंतजार कर रहा है। जैसे ही फैसला आता है वैसे ही बेसिक शिक्षा विभाग प्राइमरी और उच्च प्राइमरी स्कूलों में रिक्ति पदों पर भर्तियां शुरू कर देगा। इसमें उच्च प्राइमरी स्कूलों के किये भाषा शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया भी शामिल होगी। सूत्रों की माने तो सचिव बेसिक शिक्षा परिषद ने उच्च प्राथमिक स्कूलों में भाषा शिक्षक रखने के लिए सभी तैयारी कर ली है। सभी प्रस्तावों को भी तैयार कर लिया है। ये भर्ती हो जाये तो बहुत सुकून मिलेगा।

प्रदेश में 76782 उच्च प्राइमरी स्कूल हैं। इनमें करीब 21 हजार भाषा शिक्षक रखे जाएंगे। प्रदेश में वर्ष 2013 में आयोजित टीईटी में उच्च प्राथमिक स्तर की भाषा शिक्षा की परीक्षा में 42,430 अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए थे। इसके आधार पर ही भाषा शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। इसके लिए 21 से 40 वर्ष की आयु के टीईटी व बीएड पास अभ्यर्थी ही पात्र होंगे। इन्हें शिक्षक पद पर भर्ती के बाद छह माह का विशिष्ट बीटीसी का प्रशिक्षण दिया जाएगा।21 हज़ार भाषा शिक्षक की भर्ती

Sarkari Exam 2022 Govt Job Alerts Sarkari Jobs 2022
Sarkari Result 2022 rojgar result.com 2022 UPTET 2022 Notification
हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी अगर आप उत्तर प्रदेश हिंदी समाचार, और इंडिया न्यूज़ हिंदी में जानकारी के लिए www.primarykateacher.com को बुकमार्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.