यूपी बेसिक शिक्षा स्कूलों में 2022 की छुट्टियों कैलेंडर जारी, जानिए इस बार कितने मिलेंगे अवकाश

  

Basicलखनऊ। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद ने परिषदीय एवं मान्यता प्राप्त विद्यालयों के लिए वर्ष 2022 की अवकाश तालिका घोषित कर दी है। इसमें आठ पर्व रविवार के दिन पड़ने से रविवार की छुट्टी का लाभ नहीं मिल सकेगा। इस तरह रविवार के पर्वों को शामिल करते हुए साल में 75 दिन अवकाश रहेगा। इसमें शीतकालीन और ग्रीष्कालीन के 42 अवकाश भी सम्मिलित हैं। अन्य 44 रविवार की छुट्टियां इसके अतिरिक्त हैं। अन्य रविवार को सम्मिलित करने पर कुल 119 दिन विद्यालयों में अवकाश रहेगा।

बेसिक शिक्षा परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल की ओर से जारी की गई अवकाश तालिका में छह पर्व अवकाश रविवार के एक दिन पहले या एक दिन बाद पड़ रहे हैं। इस तरह लगातार दो छुट्टियों का लाभ शिक्षकों व विद्यार्थियों को मिल सकेगा। रविवार को पड़ने वाले पर्वों में नौ जनवरी को गुरु गोविंद सिंह जन्म तिथि, 10 अप्रैल को रामनवमी, 10 जुलाई को बकरीद, दो अक्टूबर को गांधी जयंती, नौ अक्टूबर को ईद-ए-मिलाद, बारावफात/ महर्षि बाल्मीकि जयंती, 23 अक्टूबर को नरक चतुर्दशी, 30 अक्टूबर को छठ पूजा पर्व एवं 25 दिसंबर को क्रिसमस शामिल हैं।

जहां रविवार की छुट्टी का नुकसान हुआ है, वहीं रविवार के आगे या पीछे पड़ रहे पर्व से लगातार दो दिन छुट्टी का लाभ भी मिलेगा। इन पर्वों में वसंत पंचमी पांच फरवरी शनिवार, बुद्ध पूर्णिमा 16 मई सोमवार, स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त सोमवार, चेहल्लुम व विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर शनिवार, दीपावली 24 अक्टूबर सोमवार, सरदार बल्लभ भाई पटेल जन्मतिथि/आचार्य नरेंद्र देव जयंती 31 अक्टूबर सोमवार शामिल है। अपरिहार्य परिस्थितियों में जिलाधिकारी की ओर से घोषित अवकाश देय होगा।

ग्रीष्मावकाश व शीतकालीन अवकाश घोषित :
वर्ष 2022 में ग्रीष्मावकाश 20 मई से 15 जून तक रहेगा। इसके अलावा शीतकालीन अवकाश 31 दिसंबर से 14 जनवरी तक घोषित किया गया है। ग्रीष्मकाल में मध्यावकाश सुबह 10:30 बजे से 11:00 बजे तक एवं शीतकाल में मध्यावकाश दोपहर 12:00 से 12:30 बजे तक रहेगा।

पढ़ाई के घंटे निर्धारित :
प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक कक्षाओं में पढ़ाई के लिए घंटे निर्धारित किए गए हैं। एक अप्रैल से 30 सितंबर तक सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक शिक्षण कार्य किया जाएगा। इसमें आठ से सवा आठ बजे तक प्रार्थना और योगाभ्यास का समय रहेगा। इसके अलावा एक अक्टूबर से 31 मार्च तक सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक शिक्षण कार्य किया जाएगा। इसमें प्रार्थना सभा और योगाभ्यास का समय सुबह नौ से सवा नौ बजे तक होगा।

सिर्फ शिक्षिकाओं एवं बालिकाओं को ये अवकाश :
हरितालिका तीज अथवा हरियाली तीज, करवा चौथ, संकठा चतुर्थी एवं हलषष्ठी/ललई छठ, जीउतिया व्रत/अहोई अष्टमी का अवकाश सिर्फ शिक्षिकाओं एवं बालिकाओं के लिए स्वीकृत किया गया है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *