एक माह में नौकरी तलाश करने वाले 15 लाख बढ़े

Jobsश्रम मंत्रालय के नेशनल करियर सर्विस पोर्टल में पिछले करीब एक महीने में 15 लाख से ज्यादा नए नौकरी तलाश रहे लोगों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। 19 सितंबर के करीब इस पोर्टल के डैशबोर्ड पर रजिस्टर्ड बेरोजगारों की संख्या 95.39 लाख हुआ करती थी लेकिन पिछले एक महीने के दौरान लोगों के रजिस्ट्रशन बड़े पैमाने पर बढ़ने लगे हैं। Visit Primary ka Teacher for New Free Job Alert

ताजा आंकड़ों के मुताबिक कुल 1.10 करोड़ लोग नौकरी तलाश रहे हैं और इन लोगों के लिए 1,46,293 नौकरियां उपलब्ध हैं। अगर औसत की बात की जाए तो प्रति नौकरी 75 से ज्यादा लोगों की उम्मीदवारी है। देश भर में इस पोर्टल के जरिए लोगों को नौकरी देने वाले नियोक्ताओं की तादाद भी अच्छी खासी है। कुल 1,70,056 नियोक्ता इस पोर्टल पर रजिस्टर्ड हैं।

यह भी पढ़ेंः  डीएलएड प्रशिक्षुओं को यूपी में 25 लाख अनपढ़ को दी जाएगी पढ़ाने लिखाने की जिम्मेदारी

राज्यों का हाल : 30 सितंबर तक की बात 1.01 करोड़ नौकरी ढूढ़ने वालों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इनमें से 67 लाख के करीब पुरुष और 34 लाख महिलाएं हैं। नौकरी ढूढ़ने वालों की संख्या में शीर्ष 3 राज्यों की बात की जाए तो ये पश्चिम बंगाल, बिहार और महाराष्ट्र हैं। पश्चिम बंगाल में 24.45 लाख, बिहार में 12.30 लाख और महाराष्ट्र में 11.06 लाख लोगों ने नौकरी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। इससे अलावा उत्तर प्रदेश में करीब 5 लाख, झारखंड में 4.57 लाख, दिल्ली में 1.18 लाख, हरियाणा में 88 हजार और उत्तराखंड में 65 हजार नौकरी ढूढ़ रहे लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।

यह भी पढ़ेंः  MMRDA Recruit Many Technician Post

सरकार का तर्क : हालांकि सरकार का कहना है कि कि देश में मौजूदा समय में इस पोर्टल के जरिए ही रोजगार देने की तैयारी है। ऐसे में सभी राज्यों में नियोक्ताओं को पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने को कहा जा रहा है।

महिलाएं थोड़ा आगे
इस पोर्टल पर 4.09 करोड़ श्रमिकों ने पंजीकरण कराया है। इनमें से 50.02 प्रतिशत महिलाएं और 49.98 प्रतिशत पुरुष कामगार हैं। पोर्टल पर पुरुषों और महिलाओं ने समान संख्या में पंजीकरण कराया है।

पंजीकरण की सुविधा
ऑनलाइन पंजीकरण के लिए व्यक्तिगत श्रमिक मोबाइल ऐप या वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा वे साझा सेवा केंद्रों (सीएससी), राज्य सेवा केंद्र, श्रम सुगमता केंद्र, चुनिंदा डाकघरों, डिजिटल सेवा केंद्रों पर जाकर भी अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः  वंचित तबकों के छात्र-छात्रओं को तकनीकी शिक्षा से जोड़ने का भरसक प्रयास करेंगे

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.