जिले के संस्कृत विद्यालयों में प्रधानाचार्य एवं सहायक अध्यापक के 128 पद रिक्त

प्रयागराज :- जिले के संस्कृत विद्यालयों में प्रधानाचार्य एवं सहायक अध्यापक के 128 पद रिक्त पड़े हैं। अशासकीय संस्कृत महाविद्यालयों में रिक्त पदों पर स्थायी नियुक्ति होने तक सत्र 2021-22 और सत्र 2022-23 के लिए प्रधानाचार्यों और शिक्षकों की मानदेय पर भर्ती होने जा रही है। जिला विद्यालय निरीक्षक की ओर से सभी संस्कृत विद्यालयों के प्रबंधकों को पत्र जारी करते हुए 23 अगस्त को अनिवार्य रूप से भर्ती के लिए विज्ञापन जारी करने के निर्देश दिए गए हैं।

जिले के 33 संस्कृत महाविद्यालयों में प्रधानाचार्यों एवं सहायक अध्यापकों के 128 पद खाली हैं। प्रथमा एवं पूर्व मध्यमा स्तर पर शिक्षकों को 12 हजार रुपये और उत्तर मध्यमा स्तर पर 15 हजार रुपये के मानदेय पर रखा जाएगा। शिक्षण अवधि में ग्रीष्मावकाश को शामिल नहीं किया जाएगा। इनकी नियुक्ति अस्थायी होगी और नियमित शिक्षकों के आने तक ही मानदेय पर भर्ती की जाएगी। जिले में 16 संस्कृत विद्यालय ऐसे हैं, जहां कोई भी स्थायी शिक्षक नहीं है।

यह भी पढ़ेंः  उच्च शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई करने वाले छात्रों को अब एक ही कोर्स या क्षेत्र से बंधे रहने की जरूरत नहीं

इनमें विद्यालयों में कमलाकर संस्कृत पाठशाला शंकरगढ़, नारायणदास संस्कृत महाविद्यालय कोलसरा लेडिय़ारी, विश्वनाथ संस्कृत महाविद्यालय कोरांव, महर्षि पणिनी संस्कृत उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बड़ोखर कोरांव, आनंद बोधराम संस्कृत महाविद्यालय तिवारीपुर गाढ़ा, सुबोधनी संस्कृत पाठशाला मांडा, बजांग संस्कृत विद्यालय देवली फूलपुर, तीर्थराज संन्यासी संस्कृत विद्यालय झूंसी, शिवशर्मा संस्कृत महाविद्यालय दारागंज, भागवतदेशिक संस्कृत विद्यालय नृसिंह मंदिर दारागंज, महंत विचारानंद संस्कृत महाविद्यालय नया बैरहना, किशोरीलाल वेणीमाधव संस्कृत महाविद्यालय नया बैरहना, रामसुमेर तिवारी संस्कृत विद्यालय नारीबारी, श्यामलाल शुक्ल संस्कृत विद्यालय अयोध्या कोरांव, त्रिवेणी संस्कृत महाविद्यालय दारागंज एवं शेषमणि संस्कृत विद्यालय रतेवरा करपिया कोरांव शामिल हैं।