परिषदीय स्कूलों की सेहत 114 करोड़ से सुधरेगी

परिषदीय स्कूलों में बेहतर मूलभूत सुविधाएं और स्मार्ट टीचिंग को बढ़ावा देने के लिए उद्योग जगत, एनजीओ और अन्य निजी संस्थाएं 114 करोड़ रुपये खर्च करेंगी। यह सभी संस्थाएं कारपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी (सीएसआर) के माध्यम से आर्थिक मदद देंगी। उत्तर प्रदेश में सरकारी स्कूलों को चमकाने के लिए पहली बार सीएसआर कान्क्लेव आयोजित किया जा रहा है। बुधवार से राजधानी में शुरू हो रहे इस दो दिवसीय कान्क्लेव का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे।

राजधानी में डॉ. राम मनोहर लोहिया लॉ यूनिवर्सिटी के सभागार में आयोजित इस कान्क्लेव में नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत, गूगल व माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी कंपनियों के आला अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सतीश चंद्र द्विवेदी ने बताया कि कान्क्लेव में 109 कंपनियां भाग लेंगी और इसमें से एक दर्जन से अधिक कंपनियों के साथ एमओयू किया जाएगा। सरकारी प्राइमरी स्कूलों व उच्च प्राइमरी स्कूलों में विद्यार्थियों को प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सुविधाएं दी जाएंगी।

स्कूलों में बैठने के लिए बेहतर फर्नीचर, क्लासरूम की दीवारों पर टाइल्स, पेयजल व शौचालय की बेहतर व्यवस्था के साथ-साथ स्मार्ट क्लास की भी सुविधा दी जाएगी। राज्य सरकार 1.69 लाख प्राइमरी स्कूलों व उच्च प्राइमरी स्कूलों में 92 हजार स्कूलों में कायाकल्प योजना के तहत बेहतर मूलभूत संसाधन उपलब्ध करा चुकी है। ऐसे में समाज के सहयोग से अब स्कूलों में और अच्छी सुविधाएं देने पर जोर दिया जा रहा है।

कार्यक्रम में विभिन्न संस्थाएं अपने-अपने स्टॉल भी लगाएंगी और शिक्षा के क्षेत्र में हो रहे नवाचार से लोगों को अवगत कराएंगी। प्रदर्शनी के साथ-साथ सेमिनार भी होंगे। इस अवसर पर दूसरे राज्यों के शिक्षा निदेशक और शिक्षाविद् भी दो दिवसीय कान्क्लेव में हिस्सा लेंगे। समापन समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मुख्य अतिथि होंगी।

राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान परिसर में मंगलवार को पत्रकारों से बात करते बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सतीश द्विवेदी’ जागरण

एनआरआइ स्कूल लेंगे गोद ऑनलाइन मिलेगी सुविधा

बीते दिनों लंदन में आयोजित एजुकेशन वर्ल्ड फोरम में शिरकत करने गए मंत्री सतीश द्विवेदी से कई प्रवासी भारतीयों ने सरकारी स्कूलों को गोद लेने की इच्छा जताई। मंत्री ने बताया कि वह इस पूरी व्यवस्था को ऑनलाइन करेंगे ताकि स्कूल गोद लेने के लिए बीएसए कार्यालय के चक्कर न लगाने पड़ें।

नई योजनाएं होंगी शुरू, अच्छे काम को पुरस्कार

सीएम कई योजनाओं का डिजिटल विमोचन भी करेंगे। इसमें हर दिन स्कूल आएं (शारदा) कार्यक्रम के तहत पांच वर्ष से 14 वर्ष तक के आउट ऑफ स्कूल बच्चों का नामांकन करवाने, सामथ्र्य तकनीकी प्रणाली के तहत दिव्यांग बच्चों को चिह्न्ति कर स्कूल में दाखिला दिलाने, फाउंडेशन लर्निग माड्यूल आधारशिला, कमजोर बच्चों के लिए ध्यानाकर्षण माड्यूल और विस्तृत शिक्षण योजना के तहत शिक्षण संग्रह माड्यूल का विमोचन करेंगे। वहीं दस एकेडमिक रिसोर्स पर्सन सम्मानित किए जाएंगे।

बैठक कर हल करेंगे कार्यालय शिफ्ट करने का मुद्दा

प्रयागराज से बेसिक शिक्षा परिषद के कार्यालय को लखनऊ शिफ्ट करने पर वकीलों के विरोध और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा आश्वासन दिए जाने के सवाल पर मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि बैठक कर मामले का समाधान निकालेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.