शिक्षामित्रों को समायोजन के लिए टीईटी के साथ देनी होगी लिखित परीक्षा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को कैबिनेट की बैठक हुई जिस में कई फैसले लिए गए। बैठक में सबसे अहम ये रहा, shiksha mitra samayojan रद्द किये जाने से प्रदेश के परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 1.37 लाख शिक्षकों के पद रिक्त हुए है। जिनको भरने के लिए के लिए सरकार ने पूरी कमर कास ली है। वही प्राइमरी स्कूलों में shikshak bharti के लिए मौजूदा शैक्षिक गुणांक व्यवस्था के साथ ही लिखित परीक्षा आयोजित कराने का बैठक में निर्णय लिया गया। basic shikshak bharti में शिक्षामित्रों को वेटेज देने पर भी निर्णय लिया गया। इसके लिए कैबिनेट ने मंगलवार को उप्र बेसिक शिक्षा सेवा नियमावली में संशोधन के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। सरकार की तरफ से शिक्षामित्रों को वेटेज के रूप में थोड़ी रहत देने की कोशिश की गई है।

पढ़ें- शिक्षामित्रों को 10 हजार में करना होगा गुजारा

प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री और प्रवक्ता श्रीकांत मिश्रा ने बताया कि सरकार ने shikshak bharti में चयन मापदंड के बदवाल के लिए uttar pradesh basic shiksha adhyapak seva niyamavali में संसोधन संसोधन को मंजूरी दे दी है। ऊर्जा मंत्री का कहना है कि सरकार का जोर प्रदेश में शिक्षा को बेहतर करने पर जोर है। इसलिए यह बदलाव किया गया है लिखित परीक्षा के लिए न्यूनतम क्वालिफाइंग मार्क्स व इससे जुड़े दिशा निर्देश राज्य शैक्षिक एवं प्रक्षिशण परिषद निदेशक राज्य सरकार की अनुमति से जारी होंगे ।

पढ़ें- वाराणसी: जेल में बंद साथियों के समर्थन में जुटेंगे हजारों शिक्षामित्र, मंडल के 585 शिक्षामित्रों को नोटिस

लिखित परीक्षा के 60 फीसदी अंक और शैक्षिक गुणांक से बनेगी मेरिट
likhit pariksha में अभ्यर्थी के पप्राप्तांक का 60 फीसदी और अधिकतम 40 अंक के शैक्षिक गुणांक से मेरिट बनेगी। शैक्षिक गुणांक तय करने के लिए 10 वीं 12वीं ग्रेजुएशन और बी टी सी के 10 फीसदी अंक जुड़ेंगे। इसमें sahayak adhyapak bharti परीक्षा का अंक जोड़कर मेरिट तैयार की जाएगी।

शिक्षामित्रों को अधिकतम 25 अंक का वेटेज
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार शिक्षामित्रों को अनुभव के आधार पर प्रत्येक वर्ष के लिए 2.5 अंक का वेटेज मिलेगा। यह अधिकतम अंक 25 होंगे। बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जैसवाल ने बताया कि शिक्षामित्रों की अधिकतम आयु सीमा ६0 वर्ष का लाभ मिलेगा।

पढ़ें- योगी सरकार से निराश शिक्षामित्र, क्या अखिलेश यादव का साथ लेंगे 

ऐसे समझे

10 वीं मे 75 फीसदी अंक है तो मेरिट में 7.5  अंक जुड़ेंगे
12 वीं मे 75 फीसदी अंक है तो मेरिट में 7.5 अंक जुड़ेंगे
ग्रेजुएशन मे 75 फीसदी अंक है तो मेरिट में 7.5 अंक जुड़ेंगे
बी टी सी मे 75 फीसदी अंक है तो मेरिट में 7.5 अंक जुड़ेंगे

शैक्षिक गुणाँक के 30 अंक मिलेंगे

sahayak bharti pariksha में अभ्यर्थी को 200 में 150 अंक यानी 75 फीसदी मिले है तो 75 का 60 फीसदी यानी 45 अंक मेरिट में जुड़ेंगे

यानि अभ्यर्थी को कुल 75 अंक अंक (30+40) मिलेंगे आधार तैयार होगी

अगर शिक्षामित्र परीक्षा उत्तीर्ण करता है तो उसे अधिकतम 25 का भारंक मिलेगा यानी उसके कुल 100 अंक (30 +45+25) होंगे।

written examination for shikshamitra samayojan and real all shiksha mitra high court latest news, shiksha mitra latest news today hindi

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.