UPTET 2018: वेबसाइट क्रैश होने से ढाई लाख आवेदकों के फार्म फंसे

uptet 2018 , upbasiceduboard.gov.in : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2018 के करीब ढाई लाख फार्म फंस गये हैं। पिछले पांच दिनों से वेबसाइट क्रैश होने के कारण घंटों प्रयास के बावजूद प्रतियोगी फार्म नहीं भर पा रहे है। हालत यह है कि आवेदकों के बैंक अकाउंट से दो-तीन बार फीस का रूपया काट चुका है लेकिन अभ्यर्थी फार्म सबमिट नहीं का पा रहे है। प्रिंट नहीं निकलने से अभ्यर्थी काफी परेशान हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी को मिली सूचना के मुताबिक, करीब पांच लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। लेकिंन अब तक लगभग एक लाख फार्म ही अंतिम रूप से जमा हो सके हैं। अगर पचास हजार पंजीकरण फर्जी भी मान लिया जाए तो कम से कम ढाई लाख अभ्यर्थी ऐसे हैं जो ऑनलाइन आवेदन पत्र पूरा नहीं कर सके।

एनआईसी की वेबसाइट और स्टेट डाटा सेंटर का सर्वर ओवरलोड होने के कारण के क्रेश हो गया। ऑनलाइन फीस जमा करने के लिए जिस निजी बैंक से व्यवस्था की गई है, वह भी काम नहीं कर रही है। कई UPTET प्रतियोगी पूरी-पूरी रात फार्म भरने की कोशिश रहे हैं लेकिन उनको सफलता नहीं मिल पाई।

ऐसी एक अभ्यर्थी रूबी श्रीवास्तव पिछले तीन दिनों से फार्म भरने की कोशिश कर रही हैं लेकिन उनको सफलता नहीं मिल रही। जगमल का हाता राजरूपपुर की रहने वाली अचला शर्मा भी सोमवार से कोशिश कर रही हैं लेकिन वेबसाइट काम नहीं कर रही। फरहीन सिद्दीकी का कहना है कि चार दिन से करेली से लेकर कटरा तक के साइबर कैफे का चक्कर काट रही हैं लेकिन टीईटी का फार्म नहीं भरा जा सका।

UPTET 2018 के लिए ऑनलाइन आवेदन 18 सितंबर से शुरू हुए थे। पंजीकरण की अंतिम तिथि चार अक्टूबर शाम छह बजे तक है। आवेदन शुल्क पांच अक्टूबर तक स्वीकार किए जाएंगे। प्रिंट लेने की आखिरी तारीख छह अक्टूबर शाम छह बजे तक रखी गई है। पंजीकरण के बाद प्रिंट निकालने पर कई लोगों के फार्म खाली निकल रहे हैं।

एनआईसी की मदद को भेजे अधिकारी व कर्मचारी: यूपी टीईटी 2018 के आवेदन को लेकर चल रही समस्या के चलते अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉ. प्रभात कुमार की अध्यक्षता में लखनऊ में बैठक हुई। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए अपर मुख्य सचिव ने इसे जल्द सुलझाने को कहा। इसके बाद सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने एक डिप्टी रजिस्ट्रार और एक कम्प्यूटर एक्सपर्ट को एनआईसी लखनऊ भेज दिया ताकि जो समस्या आ रही है उसे दूर किया जा सके। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने कहा – वेबसाइट पर लोड अधिक होने के कारण समस्या हो रही है। एनआईसी की टीम लगी है। हमारे लोग भी मदद के लिए लखनऊ गए हैं।

UPTET Website Crash applicants form trapped

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.