UPTET 2017 मामले में आगामी सुनवाई 02 जनवरी को, जिसमे निम्न बिंदु तय होंगे

UPTET 2017 मामले में आगामी सुनवाई 02 जनवरी को, जिसमे निम्न बिंदु तय होंगे

*1-बिना टेट 2017 निस्तारण के शिक्षक भर्ती 06 जनवरी को होनी चाहिए या नहीं।*

*2-सरकार ऐसा क्या तरीका पेश करे कि टेट 2017 के याची भी त्वरित लाभान्वित हों।*

*3-सरकार की बहाने बाजी की दशा में याचियो को सम्पूर्ण राहत किस सीमा तक।*

जैसा कि डिवीजन बेंच ने साफ साफ निर्देश दिया कि यदि सरकार ने टेट 2017 केस को लेकर कोई भी बहाना बनाया तो याचियों को कोर्ट राहत देगा। इस बात को इंगित करते हुए कोर्ट ने लिखा भी है कि– *_Prayer for grant of interim relief made by the appellants shall be considered._*

इसलिए टीम ने अपने अधिवक्ताओं से राय मशविरा करके ये निर्णय लिया है कि *पूरे प्रदेश में जो भी टेट 2017 में न्याय से वंचित हो,चाहे वह हाइकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट की किसी भी याचिका में याची रहा हो या न रहा हो वो सभी अब याची के रूप में स्पेशल अपील में जोड़े जाएंगे।*
चूंकि सिंगल बेंच में तत्कालीन प्रचलित मुख्य याचिका (28222/2017-MOHD RIZWAN & 103 OTHRS) से 316 रिट पिटीशन कनेक्ट थी जिसमे लगभग 8 से 9 हजार याची सम्मिलित थे। आगामी सुनवाई तक इतनी 316 याचिकाओं को पार्टी बनाना और उसमे जुड़े सभी याचियों (लगभग 8000-9000) को स्पीड पोस्ट से उनके घर नोटिस भेजना,ये इतने कम समय मे सम्भव नही दिखता। इसलिए सरकार 02 जनवरी को अन्य कोई सॉलिड बहाना ढूंढ के लाएगी। कोर्ट को जैसे ही अधिवक्ताओं ने इस बहाने को सिर्फ एक ढोंग सिद्ध कर दिया ऐसी स्थिति में याचियों को कोर्ट तुरंत राहत दे देगा। ये अनुमान नही ये कोर्ट आर्डर चिल्ला चिल्ला कर कह रहा।

*पूरे प्रदेश में जो भी टेट 2017 पीड़ित साथी टीम रिज़वान अंसारी की याचिका में याची के रूप में जुड़कर अपना लोकस सुरक्षित करना चाहते हैं वो 30 जनवरी तक याची बन सकते हैं।*

®टीम रिज़वान अंसारी।।
*टेट सेवा समिति(उ0प्र0)*

पढ़ें- 69000 assistant teachers recruitment written exam more than six claim on every seat

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.