यूपी टीईटी-2017 को लेकर एक और याचिका

इलाहाबाद : Teacher Eligibility Test i.e. UP TET-017, का परिणाम जारी होने की अनुमानित तारीख 30 नवंबर बीतने के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने अगले हफ्ते बुधवार तक परिणाम घोषित होने की संभावना जताई है। लाखों अभ्यर्थियों को इस परिणाम का बेसब्री से इंतजार है जबकि भरपूर जोर लगने के बावजूद सफलता के पायदान पर चढ़ने वालों की संख्या चौंकाने वाली हो सकती है। सूत्रों के अनुसार इस बार भी उत्तीर्ण होने वालों की तादाद काफी कम है। गौरतलब है कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इलाहाबाद ने 15 अक्टूबर को प्रदेश भर में 1614 केंद्रों पर दो पालियों में UP TET-017 exam का आयोजन कराया था। कुल नौ लाख 97 हजार 760 अभ्यर्थियों में प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 80.50 तथा उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 86.74 फीसद अभ्यर्थी शामिल हुए थे। इस परीक्षा की answer key को लेकर कई अभ्यर्थियों ने सवाल उठाए, आपत्तियां भेजी जिनके निस्तारण से संतुष्ट न होने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट और लखनऊ बेंच में याचिकाएं दाखिल हुईं। उधर आपत्तियों के निस्तारण के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने दावा किया था कि 30 नवंबर को परिणाम जारी कर दिया जाएगा लेकिन, इस पर असमंजस की स्थिति बरकरार रही और आखिरकार तय समय सीमा में परिणाम जारी नहीं हो सका।

Exam Results हालांकि गोपनीय है फिर भी परीक्षा कराने वाली संस्था से जुड़े सूत्रों की मानें तो इस बार भी उत्तीर्ण होने वालों का प्रतिशत काफी कम है। TET की पिछली दो परीक्षाओं में भी परिणाम अपेक्षा के विपरीत चौंकाने वाले रहे, इस बार भी वैसी ही स्थिति बनी है जो गंभीर चिंतन का विषय हो सकती है। वहीं सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इलाहाबाद डा. सुत्ता सिंह का कहना है कि डाटा फीडिंग हुई है। मास्टर डाटा मिला है जिसे प्रोसेस में लाए बिना परिणाम की स्थिति पर कुछ कहा नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि रिजल्ट कितने फीसद है इसकी जानकारी डाटा प्रोसेसिंग के बाद ही हो सकेगी। बताया कि कुछ याचिकाओं पर कोर्ट ने काउंटर मांगा है, कुछ आपत्तियों पर तीन से लेकर पांच विशेषज्ञों तक से निस्तारण कराया जा रहा है इसलिए परिणाम जारी करने में अभी चार से पांच दिन का समय लग सकता है।

Another petition on UP TET-2007: इलाहाबाद : UP TET-017 के परिणाम जारी होने से पहले परीक्षा कराने वाली संस्था के लिए एक और मुश्किल हालात पैदा हो गए हैं। कोर्ट में पहले से लंबित कई याचिकाओं के अलावा एक और याचिका दाखिल हो गई है। यह याचिका पर्यावरण विषय के क्षेत्र में सवाल पूछने के स्थान पर संविधान के प्रश्न पूछे जाने को लेकर दाखिल हुई है। प्रभा त्रिपाठी और अन्य ने टीईटी-2017 में पर्यावरण विषय के क्षेत्र में सवाल पूछे जाने की बजाए संविधान के प्रश्न पूछे जाने को हाईकोर्ट में चुनौती दी है।

कोर्ट ने इस पर सरकारी वकील से जानकारी मांगी है। याचिका को इस मामले में पूर्व में दाखिल कुर्मेश कुमार व आठ अन्य की याचिका के साथ संबद्ध कर दिया गया है। सुनवाई 14 दिसंबर को होगी। इस मामले की सुनवाई न्यायमूर्ति सुनीत कुमार कर रहे हैं। याची के अधिवक्ता एके त्रिपाठी और अनिल बिसेन का कहना था कि पर्यावरण पाठ्यक्रम के तहत पूछे जाने वाले सवालों की जगह संविधान से संबंधित सवाल पूछ लिए गए। जबकि, उस सेशन में सिर्फ पर्यावरण के सवाल होने चाहिए थे। याचीगण ने प्रत्यावेदन दिया था लेकिन उस पर कोई सुनवाई नहीं हुई।

UPTET 2017 results may be issued till Wednesday, Getting data feeding. Another petition on UP TET-2007

पढ़ें- टीईटी-2017 के परिणाम पर असमंजस की स्थिति

UPTET 2017 results may be issued till Wednesday

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.