UPTET 2017 की परीक्षा एनसीटीई के तय मानकों से होगी

इलाहाबाद : UP Teacher’s eligibility Test यानी UP TET 2017 में किसी भी अभ्यर्थी को कोई अलग से राहत नहीं मिलने जा रही है। Doorasth BTC passed shikshamitra हों या डीएलएड (former BTC) उत्तीर्ण अभ्यर्थी या फिर B.ed करने वाले अभ्यर्थी सभी को आवेदन से लेकर इम्तिहान तक में एक जैसे नियमों का पालन करना होगा। ऐसे संकेत हैं कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय प्रश्नपत्र की गुणवत्ता को भी पहले की परीक्षाओं की तरह बनाए रखेगा।

प्रदेश में 2011 से लेकर अब तक एक वर्ष को छोड़कर Teacher eligibility Test नियमित रूप से हो रही है। पहले वर्ष को छोड़कर इस परीक्षा का परिणाम लगातार गिरता जा रहा है। पिछले वर्ष की परीक्षा में महज 11 फीसद अभ्यर्थी उत्तीर्ण हो सके थे, जबकि 89 फीसद अभ्यर्थी फेल हो गए थे। इसके पहले 2015 में सफलता का प्रतिशत महज 17 फीसद रहा है। इस परीक्षा में आवेदन की अर्हता NCTE i.e. the National Council for Teacher Education तय करता रहा है। इस बार भी उसी के नियमों के तहत इम्तिहान होगा।

पढ़ें – Shikshamitron के लिए नवंबर में हो सकता है TET

आवेदन में उम्र सीमा का बंधन पहले भी नहीं रहा है और इस बार नहीं होगा, लेकिन वहीं अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे, जिन्होंने स्नातक आदि परीक्षाओं में तय अंक प्राप्त किए हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव को 23 अगस्त तक विज्ञापन जारी करना था, लेकिन वह 22 अगस्त को ही जारी हो चुका है, अब 25 अगस्त से ऑनलाइन पंजीकरण और आवेदन का सिलसिला शुरू होगा।

सूत्रों के अनुसार इस बार भी प्रश्नपत्र आदि की गुणवत्ता पिछले वर्षो की तरह ही रहने के आसार हैं, ताकि समानता के अधिकार का हनन न होने पाए इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। सचिव डा. सुत्ता सिंह ने TET 2017 का विस्तृत कार्यक्रम जारी किया है इसमें 15 अक्टूबर को प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों के लिए परीक्षा और 30 नवंबर को परीक्षा परिणाम जारी करने का लक्ष्य तय किया गया है।

पढ़ें – UPTET 2017 की परीक्षा सितंबर में करने की तैयारी

TET Passed Shikshamitron के शिक्षक बनने के आसार

Supreme Courtसे जिन शिक्षामित्रों का Assistant Teacher पर समायोजन रद हो चुका है, उनके सामने शिक्षक बनने में सबसे बड़ी बाधा Teache eligibility Test (TET) ही है, जो shikshamitra इस परीक्षा में उत्तीर्ण होंगे उनके शिक्षक बनने के आसार प्रबल हो जाएंगे, क्योंकि सूबे की सरकार ने उन्हें पर्याप्त भारांक देने का आदेश दिया है।

पढ़ें – UP TET साल में दो बार होने के आसार

यह जरूर है कि जारी शासनादेश में यह स्पष्ट नहीं है कि भारांक का लाभ शिक्षामित्रों को कब से उनकी नियुक्ति से या फिर प्रशिक्षित शिक्षक बनने के बाद से मिलेगा। इसके बाद भी ढाई अंक प्रतिवर्ष का भारांक उनकी राह को आसान जरूर करेगा। वहीं, करीब 22 हजार shikshamitra ऐसे हैं, जो पहले ही TET Passed कर चुके हैं उन्हें दिसंबर में Teacher Recruitment निकलने का इंतजार है।

UPTET 2017 examination will be done with fixed standards of NCTE

UPTET 2017 will be on the fixed standards of NCTE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *