यूपीटीईट 2017 परीक्षा में सवा लाख शिक्षामित्र हुए शामिल

रविवार को दो पालियों में 1634 केंद्रों पर होने वाली यूपी-टीईटी 2017 की परीक्षा में लगभग 9 लाख 76 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए। सबसे ज़्यादा अभ्यर्थी इलाहाबाद में परीक्षा देंगे यहाँ 86 केंद्रों पर लगभग 50761 उम्मीदवार परीक्षा देंगे। पहले चरण में सुबह 10 बजे से प्राथमिक स्तर की टीईटी परीक्षा होगी। ढाई घंटे की इस परीक्षा में प्रदेश भर में 570 केंद्रों पर लगभग 3 लाख 49 हज़ार 192 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे, इसी तरह दूसरी पाली में दिन के ढाई से 1064 केंद्रों पर उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा होगी। उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में कुल 6 लाख 27 हज़ार 568 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। हर बार की तुलना में इस बार यूपीटीईटी परीक्षा में अभ्यर्थी की संख्या में इजाफा हुआ है इसका कारण माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने 25 जुलाई को 1.37 लाख शिक्षा मित्र समायोजन रद्द कर दिया था तो उसके बाद से पहली बार जेट की परीक्षा हो रही है। शिक्षामित्र यह मौका गंवाना नहीं चाहते। रविवार को होने वाली प्राथमिक स्तर की परीक्षा की यूपी टीईटी 2017 परीक्षा में लगभग सवा लाख शिक्षामित्रों के शामिल होने की संभावना है।

150 अंक की होगी परीक्षा: यूपी टीईटी 2017 की परीक्षा 150 अंकों की और 2.30 घंटे की होगी। टीईटी परीक्षा डीएड पाठ्यक्रम और इंटरमीडिएट स्तर (विज्ञान व गणित को छोड़कर) के अनुसार होगी। विज्ञान व गणित डीवैड पाठ्यक्रम के अनुसार होगा। हिंदी, अंग्रेजी, गणित व विज्ञान के लिए 15-15 अंक निर्धारित हैं, जबकि शिक्षक कौशल और सामान्य ज्ञान के लिए 30-30 अंक तय किए गए हैं। तर्क ज्ञान पर आधारित 10 अंक के प्रश्न रहेंगे जबकि निबंध के लिए 20 अंक निर्धारित किया गया है जिसे एक हजार शब्दों में लिखना है। निबंध समसामयिक मुद्दे, सामाजिक, सांस्कृतिक, पर्यावरण और राजनैतिक विषय, शैक्षिक परिदृश्य में बच्चे / अभिभावक / शिक्षक / विद्यालय / समुदाय से संबंधित मुद्दे पर आधारित होंगे।

गलत जानकारी भरने पर नहीं जांची जाएगी ओएमआर शीट: टीईटी परीक्षा के समय मिले ओएमआर उत्तर पत्रक में गलत जानकारी भरने, गलत अनुक्रमांक भरने और प्रश्न पुस्तिका श्रृंखला / भाषा विकल्प / भाग-चार (विज्ञान / गणित या समाजिक विज्ञान) के गोले को काला न करने पर उसकी रेटेड नहीं किया जाएगा और इस संबंध में में किसी भी प्रकार के प्रत्यावर्तन विचारणीय नहीं होंगे। इसके लिए आवश्यक है कि अभ्यर्थी परीक्षा के समय प्रश्न पुस्तिका में दिए गए महत्वपूर्ण निर्देशों का पालन करें।

नक़ल, आनुशासनहीनता पर पुरे परीक्षा केंद का रद्द होगा परिणाम: परीक्षा और दस्तावेजारी कार्यालय की और से जारी निर्देश निर्देश में सपष्ट किया जा चूका है कि जो अभयर्थी नकल करते पाया गया तो वो अभयर्थी भविष्य में किसी भी टीईटी परीक्षा में शामिल नहीं हो पायेगा। नक़ल, जेनशासनहीनता की शिकत पर परीक्षा केंद का परिणाम रद्द कर दिया जाएगा। परीक्षा शुरू होने के बाद आने वालों को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। अभयर्थी को UPTET की वेबसाइट से डाउनलोड एडमिट कार्ड दिखाना होगा। जिनके पास वेद प्रवेश पत्र नहीं है उन्हें प्रवेश नहीं मिलेगा। हर अभयर्थी का रोल नंबर उसको आवंटित सीट पर लिखा जाएगा।

अभ्यर्थी उस सीट से अलग बैठता है तो उसको रद्द कर दिया जायेगा। परीक्षा केंद्र पर केवल प्रवेश पत्र और वाल पॉइंट पेन लेजाने की अनुमति है। अन्य सामान पाए जाने पर उसकी परीक्षा रद्द कर दी जाएगी। केंद्र अधीक्षक या संबंधित निरीक्षक की विशेष अनुमति के बिना कोई भी अभ्यर्थी परीक्षा समाप्त होने तक अपनी सीट नहीं छोड़ेगा पेपर शुरू होने के दस मिनट पहले अभ्यर्थी को एक सीलबंद टेस्ट बुकलेट दी जाएगी जिसमें उत्तरपुस्तिका होगी निरीक्षक की घोषणा के बाद ही टेस्ट बुकलेट खोलेंगे। अभ्यर्थियों को काले बॉलपेन से आवरण पृष्ठ पर अपेक्षित विवरण भरना है अभ्यर्थी को रफ कार्य उत्तर पत्रक पर नहीं करना चाहिए। रफ कार्य टेस्ट बुकलेट पर ही किया जाना है।Shiksha Mitra appearing uptet 2017

25 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.