देहरादून: टीईटी पास शिक्षा मित्र बनेंगे प्राथमिक शिक्षक, शासनादेश जारी

देहरादून : TET Pass और डीएलएड प्रशिक्षित शिक्षा मित्रों का लंबा इंतजार आखिर खत्म हुआ। ऐसे 1200 से अधिक shikshamitra अब prathamik shikshak बनेंगे। सोमवार को विद्यालयी शिक्षा सचिव डॉ भूपिंदर कौर औलख ने इस संबंध में प्रारंभिक शिक्षा निदेशक को आदेश जारी किए। सरकार ने टीईटी पास नहीं करने वाले शिक्षा मित्रों को prathamik shikshak बनने के लिए पात्रता शर्ते पूरी करने के लिए 31 मार्च, 2019 तक मौका दिया गया है।

TET Pass एवं two year DELED या BTC trained शिक्षा मित्रों को प्राथमिक शिक्षकों के रूप में नियुक्ति पाने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा था। हाईकोर्ट के निर्देश पर State government ने सोमवार को नि:शुल्क एवं बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम-2009 में संशोधन से संबंधित अधिसूचना के मुताबिक औपबंधिक sahayak adhyapak के रूप में कार्यरत शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक (प्राथमिक) के पद पर नियुक्ति के आदेश जारी किए हैं। इससे 1207 टीईटी पास और डीएलएड प्रशिक्षित शिक्षा मित्रों को लाभ मिलेगा। सरकार ने शेष शिक्षामित्रों को भी उक्त अधिनियम के मुताबिक पात्रता शर्ते पूरी करने का अवसर दिया है।

शासनादेश में 31 मार्च, 2015 से पहले नियुक्त और वर्तमान में TET Passed नहीं होने वाले शिक्षामित्रों को 31 मार्च, 2019 तक आरटीई संशोधित अधिनियम के मुताबिक प्राथमिक शिक्षक की पात्रता शर्ते पूरी करने की मोहलत दी है। साथ ही शासन ने केंद्र सरकार की आरटीई के संशोधित एक्ट के मुताबिक उत्तराखंड राजकीय प्रारंभिक शिक्षा सेवा नियमावली, 2012 में संशोधन का प्रस्ताव तत्काल मुहैया कराने के निर्देश प्रारंभिक शिक्षा निदेशक को दिए हैं। उक्त आदेश जारी होने पर uttarakhand TET utteern prathamik shikshak sangathan के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य सिंह पंवार ने खुशी जाहिर की है।

पढ़ें- 165 शिक्षामित्रों के मूल विद्यालय का कोई अता-पता नहीं

Dehradun: TET pass shikshamitra will become primary teacher, mandate issued

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.