बिना पैन नंबर तबादले का आवेदन नहीं कर सकेंगे शिक्षक

बेसिक शिक्षा परिषद के साढ़े पांच लाख से अधिक शिक्षक बिना पैन नंबर के तबादले का आवेदन नहीं कर सकेंगे। इसकी वजह स्थानांतरण/समायोजन को तैयार किया गया साफ्टवेयर वेतन भुगतान डाटा पर आधारित है। ऐसे में जिन शिक्षकों का अप्रैल की वेतन भुगतान सीट पर पैन नंबर दर्ज नहीं है वह ऑनलाइन आवेदन ही नहीं कर पाएंगे। इसमें बेसिक शिक्षा अधिकारी व वित्त एवं लेखाधिकारी जिम्मेदार होंगे।

परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों की स्थानांतरण/समायोजन सोमवार को जारी हो गई है। जिले के अंदर तबादले के लिए शिक्षक अब ऑनलाइन आवेदन करेंगे। परिषद सचिव संजय सिन्हा ने बुधवार को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किया है। उन्होंने बीएसए व वित्त लेखाधिकारियों को जारी पत्र में लिखा है कि शिक्षकों के ऑनलाइन आवेदन के लिए तैयार किया जा रहा साफ्टवेयर अध्यापकों के अप्रैल माह के वेतन भुगतान डाटा पर आधारित है। इसलिए सैलरी डाटा में हर शिक्षक का पैन नंबर अनिवार्य रूप से दर्ज कर दिया जाये। जिन शिक्षकों का पैन नंबर भरा नहीं होगा वह ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पाएंगे। ऐसा होने पर बीएसए व लेखाधिकारी ही जिम्मेदार होंगे।

सचिव ने यह भी निर्देश दिया है कि हर जिले के स्कूलों को शासनादेश में दिए गए निर्देश के मुताबिक तीन जोन में अनिवार्य रूप से बांट दिया जाए। हर शिक्षक को पांच विकल्प देना है यदि जोन का चिह्नंकन नहीं होगा, तब भी अध्यापक आवेदन पूरा नहीं कर पाएंगे। इस कार्य की अनदेखी होने पर बीएसए जिम्मेदार होंगे। निर्देश है कि सैलरी डाटा में ही हर शिक्षक के विद्यालय का जोन दर्ज कर दिया जाए। सचिव ने दोनों अफसरों को निर्देश दिया है कि यह कार्य बहुत महत्वपूर्ण है इसे तत्परता से पूरा किया जाए। समय पर कार्य पूरा न होने पर संबंधित अफसरों पर कार्रवाई होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *