शिक्षामित्रों का आंदोलन फिर शुरू

एटा: सरकार द्वारा शिक्षामित्रों को अभी तक कोई राहत न मिलने की स्थिति में उन्होंने फिर से आंदोलन छेड़ दिया है। काली पट्टी बांधकर स्वतंत्रता दिवस मनाने के बाद बुधवार को बीएसए कार्यालय पर धरना शुरू कर दिया। शाम को कुछ आक्रोशित शिक्षामित्रों ने किसी कार्य से पहुंची एक शिक्षिका से मारपीट भी कर दी, जिसे बेहोश होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। स्वतंत्रता दिवस पर शिक्षामित्रों ने मुख्यालय के शहीद पार्क में इकट्ठे होकर भारत माता की जय-जयकार की, उसके बाद फिर अपनी मांगें उठाईं।

पढ़ें- शिक्षामित्रों की वार्ता पूर्ण रूप से विफल, आंदोलन की पूर्ण रुप से तैयारी करने को कहा

बुधवार को संकुल भवन पर धरना शुरू कर दिया गया, जहां संघर्ष समिति के राजेश गुप्ता, मनोज यादव, कृपाल सिंह, अवधेश यादव ने लेखाधिकारी को जुलाई तक का वेतन एरियर तीन दिन में दिलाने की मांग उठाई। वहीं बताया कि गुरुवार को सभी शिक्षामित्र संकुल भवन पर इकट्ठे होंगे तथा दोपहर बजे पैदल मार्च करते हुए कलक्ट्रेट पहुंचकर डीएम को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री व राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन भी सौंपेंगे।

पढ़ें- शिक्षामित्रों को मिला अन्‍ना हजारे का साथ

इस दौरान हरिओम प्रजापति, राष्ट्रदीप पचौरी, मु. ईशाक, विपिन राघव, भूरी सिंह, किरन शर्मा, मनोज यादव, आशा यादव, गुंजन कुमारी के अलावा काफी संख्या में शिक्षामित्र मौजूद थे। उधर शाम को धरना प्रदर्शन के दौरान ही बागवाला में नियुक्त शिक्षिका संगीता नारंग अपने किसी कार्य से बीएसए कार्यालय पहुंची थीं, जिन्हें देख कुछ शिक्षामित्र भड़क गए। महिला शिक्षामित्रों ने शिक्षिका के साथ मारपीट कर दी और इसके बाद बेहोश हुई महिला को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी पर जिला अस्पताल में प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष लोकपाल सिंह सहित अन्य शिक्षक भी जा पहुंचे।

पढ़ें- 15 को मौन जुलूस निकालेंगे Shikshamitra

Shikshitmitra movement begins again

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *