शिक्षामित्रों ने जनेऊ उतारकर जताया विरोध

लखनऊ के ईको गार्डन में आम शिक्षक शिक्षा शिक्षामित्र असोसिएशन के नेतृत्व में चल रहे धरना में मंगलबार को शिक्षामित्रों ने जनेऊ उतारकर कड़ा विरोध जताया। जनेऊ उतर कर प्रदर्शन करने वाले शिक्षामित्रों में ब्राह्मण समाज के संतोष दुबे, अखिलेख उपाध्याय, लवकुश, राजू शुक्ला, अमित शर्मा, सुरेश चंद्र पाण्डेय, विश्वनाथ दुबे, मनोज मिश्रा, अखिलेश शुक्ला, सुनील कुमार मिश्रा, अनिरुद्ध त्रिपाठी शामिल रहे। प्रमोद मणि त्रिपाठी की तबियत खराब होने के कारण उनको लोकबंधु अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। आत्मदाह की चेतावनी देने वाले लवलेश शुक्ला मंगलवार को धरना स्थल से गायब रहे।

आम शिक्षक शिक्षा शिक्षामित्र असोसिएशन की अध्यक्षा ऊमा देवी ने बताया कि प्रदर्शनकारी शिक्षामित्रों की मांग है कि आईटीई ऐक्ट 2009 के अंतर्गत 1,24,000 पैरा टीचर को अपग्रेड करते हुए शिक्षा अधिकार अधिनियम कानून के तहत पूर्ण शिक्षक का दर्जा एवं उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा नियमावली के अनुसार पूर्ण शिक्षक का वेतनमान दिया जाए। जो शिक्षा मित्र आरटीई ऐक्ट 2009 में किसी विधिक पहलू के कारण नहीं समाहित हो सकते हैं उन्हें भारत के राजपत्र 2017 के अनुसार सहायक अध्यापक पद पर रखते हुए चार वर्ष में उत्तराखंड की तर्ज पर टेट उत्तीर्ण करने की छूट प्रदान करें। असमायोजित शिक्षा मित्रों को ‘समान कार्य, समान वेतन’ दिया जाए। मृतक 600 शिक्षा मित्रों के परिवार को उचित मुआवजा और आर्थिक सुरक्षा के लिए परिवार के किसी एक सदस्य को उसकी योग्यतानुसार नौकरी दी जाए। -T

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.