शिक्षामित्रों ने इलाहाबाद में ट्रेन रोकने की कोशिश

Uttar pradesh में चल रहे shikshamitron के धरना प्रदर्शन को पुलिस की पिटाई का शिकार होना पड़ रहा है। शुक्रवार को इलाहाबाद में शिक्षामित्र अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन और जुलूस निकाला। शिक्षामित्रों ने जुलूस के दौरान Allahabad railway station पर पहुंच गए और ट्रैन रोक कर उसके आगे प्रदर्शन करने लगे मगर पुलिस के प्रयास से जल्दी ही railway station को शिक्षामित्रों से खली करा लिया उत्तर प्रदेश में शिक्षामित्रों का प्रदर्शन उग्र होता जा रहा ऐसा ही नजारा एटा में देखने को मिला शुक्रवार को shikshamitra uttar pradesh government के राज्य मंत्री आवास एवं शहरी मंत्री सुरेश पासी का घेराव कर उनको ज्ञापन देने के लिए  निरीक्षण भवन पहुंचे तो शिक्षामित्रों को पुलिस द्वारा रोके जाने पर शिक्षामितों और Police administration के बीच पथराव सुरु हो गया। पथराव में दो इंस्पेक्टर सहित दस पुलिसकर्मी घायल हो गए, पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया ठीचार्ज में 30 shikshamitra घायल हो गए। चार शिक्षामित्रों की हालत गंभीर हो गई इनकी गंभीर हालत देख रेफर किया गया है। शिक्षामित्रों के खिलाफ पुलिस पर पथराव, सरकारी कार्य में बाधा डालने सहित अन्य धाराओं में मुक्दमा दर्ज किया गया है। और 40 शिक्षामित्रों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया गया है।

पढ़ें- मुख्यमंत्री योगी बोले, नहीं बढ़ा सकते शिक्षामित्रों का मानदेय 

शिक्षामित्र शुक्रवार को शहीद पार्क पर बैठक कर रहे थे। शिक्षा मित्रों को जानकारी मिली कि जनपद में उत्तर प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री सुरेश पासी आ रहे हैं। shikshamitra shahid park से प्रदर्शन करते हुए GT Road के रास्ते Gandhi Market Status Public Works Department के Guest house पहुंच गए। शिक्षामित्र मंत्री राज्यमंत्री सुरेश पासी को ज्ञापन देना चाहते थे। District administration को ऐसी सूचना मिली थी की female shiksha mitra ज्ञापन के समय मंत्री चूड़िया भेंट करेंगी। सुरक्षा के मद्देनजर निरीक्षण भवन पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया था। इससे बचने के लिए Police and administrative officials ने Guest house से पहले बैरियर लगा दिया। शिक्षामित्र और अधिकारियो की वार्ता के बाद शिक्षामित्र गेस्टहाउस के बहार करीब दो बजे सड़क पर ही बैठ गए। शिक्षामित्र सड़क पर ही प्रदर्शन करने लगे। करीब साढे़ तीन बजे मंत्री सुरेश पासी भी गेस्ट हाउस पहुंच गए।

पढ़ें- शिक्षामित्रों ने की समान कार्य समान वेतन की मांग

अधिकारियों ने मंत्री से बर्ता करने के बाद मंत्री ने पांच लोगों को अंदर बुलाकर ज्ञापन लेने की बात कहीं। मगर शिक्षा मित्रा अकेले में ज्ञापन नहीं देना चाहते थे, लेकिन administration नहीं माना। इसी बात को लेकर shikshamitra आक्रोशित हो गए। पुलिस द्वारा लगाए गए बैरियर को तोड़कर आगे बढ़ने लगे। इसी दौरान पुलिस और शिक्षामित्रों में धक्का मुक्की होने लगी। Police ने शिक्षामित्रों पर लाठी चार्ज कर दिया अपने बचाव में शिक्षामित्रों ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने Rubber की Bullets के साथ आंसू गैस के गोले छोड़। एक गोली से महिला शिक्षामित्र गीता पत्नी संदीप कुमार निवासी नरहोली थाना अवागढ़ का पैर टूट गया। अन्य घायल शिक्षामित्रों को District hospital में भर्ती कराया गया है। चार शिक्षामित्रों की हालत गंभीर देख रेफर किया गया है। इस घटना में कोतवाली नगर प्रभारी, महिला थाना प्रभारी, निधौली कलां प्रभारी सहित आठ पुलिस कर्मी घायल हो गए। एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया ने बताया कि पथराव करने तथा सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप की रिपोर्ट दर्ज करा दी है

पढ़ें- नाराज शिक्षामित्रों ने बुलंद की आवाज, कई जिलों में धरना प्रदर्शन 

साथ ही एक mahila shikshamitra ने एडीएम वित्त और राजस्व महेश चंद्र शर्मा का गिरेबां पकड़कर अभद्रता कर दी। साथ ही दुकानों में तोड़फोड़ कर दी। हालात बेकाबू होते देख पुलिस ने शिक्षामित्रों पर लाठीचार्ज कर दिया। इस पर पुलिस ने आंसू गैस और रबर बुलेट का प्रयोग कर shikshamitra को खदेड़ दिया। डीएम एटा अमित किशोर का कहना है कि शिक्षामित्रों ने आक्रोशित होकर पथराव किया है। इसमें पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। रोकने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। स्थिति पर काबू पा लिया गया है। मामले में शिक्षामित्रों की गिरफ्तारी की गई है। आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

shikshamitra try to stop train in Allahabad

Image source by Amar Ujala

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *