शिक्षामित्रों ने की समान कार्य समान वेतन की मांग

बाराबंकी: बाराबंकी में shikshamitra ने गुरुवार को जिला मुख्यालय के पास धरना प्रदर्शन कर दी गिरफ्तारी दी। सभी प्रदर्शनकारी शिक्षामित्रों को बसों में भरकर पुलिस लाइंस ले जाया गया। शिक्षामित्रों ने आंदोलन तेज़ करने का का ऐलान किया आज National highway को जाम करेंगे बाराबंकी में शिक्षामित्रों ने गुरुवार को जिला मुख्यालय के पास धरना प्रदर्शन कर दी गिरफ्तारी दी। सभी प्रदर्शनकारी शिक्षामित्रों को बसों में भरकर पुलिस लाइंस ले जाया गया। शिक्षामित्रों ने आंदोलन तेज़ करने का का ऐलान किया आज नैशनल हाई-वे को जाम करेंगे। शिक्षामित्रों के हुजूम के कारण शहर की यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो गई। नगर का यातायात सामन्य करवाने में पुलिस के पसीने छूट गए। वहीं शिक्षामित्रों ने शुक्रवार को नैशनल हाई-वे जाम करने का ऐलान किया है। शिक्षामित्रों के इस ऐलान से प्रशासन ने जिले के सभी विद्यालय बंद रखने के आदेश जारी कर दिए हैं।

पढ़ें- नाराज शिक्षामित्रों ने बुलंद की आवाज

Uttar pradesh prathmik shiksha mitra sangh के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार वर्मा के नेतृत्व में करीब ढाई हजार शिक्षामित्र जिला मुख्यालय के गन्ना कार्यालय परिसर में जुटे थे। शिक्षामित्रों ने इस आंदोलन के जरिये सरकार के खिलाफ नारेवाजी की और समान कार्य के लिए समान वेतन की मांग उठाई गई। सरकार के विरोध में नारेबाजी करते हुए shikshamitra रेलवे स्टेशन मार्ग पर आ गए और जाम लगाने की कोशिश की। हालत बिगड़ते देख एसडीएम सदर एसपी सिंह व सीओ सिटी आरएन सिंह की मौजूदगी में सभी शिक्षामित्रों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइंस लाया गया। हालांकि सभी को देर शाम निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। इस मौके पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष अनिल कुमार शर्मा, कोषाध्यक्ष संजय शर्मा, राम शंकर राठौर, रोहित त्रिपाठी, धर्मेंद्र वर्मा, हरिप्रकाश शुक्ला मौजूद रहे।

पढ़ें- दस हजार मानदेय देने के फैसले से सहमत नहीं

आज बंद रहेंगे विद्यालय : शिक्षामित्रों की National highway जाम करने की चेतावनी को जिला प्रशासन बड़ी ही गंभीरता से लेते हुए जिले के सभी विद्यालय बंद करने के आदेश जारी कर दिए हैं। शहर में भी पुलिस फाॅर्स की व्यवस्था की गई है। एसडीएम सदर एसपी सिंह ने बताया कि किसी भी कीमत पर शहरवासियों को और राहगीरों को दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। शिक्षामित्रों के आंदोलन को देखते हुए पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। शिक्षामित्रों के आंदोलन को देखते हुए पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है।

पढ़ें- योगी सरकार समायोजित शिक्षामित्रों को उनके मूल पद पर वापस भेजने की तैयारी में 

संगठन में पड़ी फूट:

Shikshamitra के हितों के लिए चलाए जा रहे आंदोलन में बार-बार लचीला रुख अपनाने का आरोप लगाते हुए जिला मंत्री चंदमौलि द्विवेदी व उपाध्यक्ष संतोष कुमार वर्मा ने संघ से इस्तीफा दे दिया। अलग होने वाले पदाधिकारियों का कहना है कि कुछ लोग निजी स्वार्थ के लिए Shikshamitra के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं।

Shikshamitra – Equal work demands equal pay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *