शिक्षामित्रों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर वादाखिलाफी का आरोप

फैजाबाद: शिक्षामित्रों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए गुरुवार को एक बार फिर से आंदोलन शुरू कर दिया। दिनभर बेसिक शिक्षा कार्यालय परिसर में सरकार विरोधी नारे लगते रहे। धरना-प्रदर्शन के दौरान भारी तादाद में महिलाओं की हिस्सेदारी रही। उमस भरी गर्मी में भी शिक्षामित्र धरना स्थल पर डटे रहे। धरने के बीच विद्यालय के निरीक्षण की सूचना पर शिक्षामित्र आगबबूला हो गए। इस पर प्रभारी बीएसए संजय कुमार ने कार्रवाई न किए जाने का भरोसा दिया, तब जाकर प्रदर्शनकारियों का गुस्सा शांत हो सका। विधायक वेद प्रकाश गुप्त के धरने स्थल पहुंचने के बाद खूब नारेबाजी हुई और मुख्यमंत्री को संबोधित मांगपत्र उन्हें सौंपा। आंदोलन के चलते जिले के 88 विद्यालयों में शिक्षण कार्य प्रभावित रहा। नगर क्षेत्र में 56 विद्यालय प्रभावित हुए। इसमें 13 में तो पढ़ाई ही नहीं हो सकी।

समायोजित शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष अनुज सिह ने शिक्षामित्रों के मामले को मोदी सरकार की असफलता बताया। उन्होंने कहा कि समायोजन निरस्त होने के बाद शिक्षामित्रों ने 26 जुलाई से एक अगस्त तक लगातार प्रदर्शन किया। इस पर सरकार ने समस्या समाधान के लिए 15 दिन का वक्त मांगा था, पर सरकार अपने वादे पर खरी नहीं उतरी। प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय कोषाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह ने कहा कि सरकार की वादाखिलाफी शिक्षामित्रों पर भारी पड़ रही है।

यूपी सरकार, केंद्र सरकार से संसद में अध्यादेश पारित कराकर शिक्षामित्रों की मांग पूरी करे। कहा कि सरकार उच्चतम न्यायालय के निर्णय पर स्थगनादेश लाए और पुनर्विचार याचिका दायर करे। प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष दुर्गेश मिश्र ने कहा कि सरकार ने शिक्षामित्रों को धोखा दिया है। दूरस्थ शिक्षा संगठन के जिलाध्यक्ष धर्मपाल ने कहा कि शिक्षक बनाए रखने के लिए सरकार विधेयक लाए, जिससे शिक्षामित्रों की रोजी-रोटी का संकट दूर हो सके। मीडिया प्रभारी अनूप द्विवेदी ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 10 बजे से बीएसए कार्यालय सभी शिक्षामित्र एकत्र होंगे।

प्राथमिक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष संजय सिंह ने एलान किया कि न्याय मिलने तक आंदोलन जारी रहेगा। 1धरने को संबोधित करने वालो में प्राथमिक शिक्षक संघ के मंत्री प्रेम कुमार वर्मा,जिला उपाध्यक्ष अर¨वद दूबे, राजेश मिश्र, अरुण सिंह, अनिल पांडेय, अशोक वर्मा, सचिन त्रिपाठी, विजय प्रताप सिंह, राम दर्शन यादव, शैलेंद्र निषाद, आदित्य तिवारी, प्रमोद सिंह, राजेंद्र निषाद, भरत सिंह, लक्ष्मी, साधना, रेखा शुक्ला में रहे। इस दौरान सैकड़ों की तादाद में शिक्षक मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *